Video: भाजपा MLA अशोक लाहोटी का CM गहलोत के नाम से सीना चौड़ा हो जाता है

Jaipur news

एक तरफ भारतीय जनता पार्टी जहां सरकार को भ्रष्टाचार के मामले में गिरने का प्रयास कर रही है, तो दूसरी तरफ भाजपा के ही विधायक अशोक लाहोटी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की शान में कसीदे गढ़ने से पीछे नहीं हट रहे हैं। पार्टी लाइन की सारी बातों को धत्ता बताते हुए सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की शान में ऐसे कसीदे गढ़े की मौके पर मौजूद लोग भी आश्चर्यचकित रह गए।

हाल ही में पकड़ में आए परिवहन विभाग के भ्रष्टाचार के मामले पर राज्य सरकार पर लगातार हमला बोल रही है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी को ऐसा लग रहा है कि “पार्टी विद डिफरेंस” के बजाय “पार्टी विद कंफ्यूज” के हिसाब से चल रही है।

प्रदेश भाजपा और उसके दिग्गज नेता लगातार कांग्रेस सरकार को विधानसभा और बाहर भ्रष्टाचार को लेकर घेर रहे हैं, वहीं भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता और सांगानेर से पहली बार विधायक चुने गए अशोक लाहोटी ने शनिवार को सार्वजनिक मंच से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को गांधीवादी और भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस ऑन करप्शन बताया।

सांगानेर की जनता के लिए लगभग गयाब हो चुके विधायक लाहोटी ने कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री के चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया। लाहोटी की इस गतिविधि से एक बार तो उनके साथ कार्यक्रम में आए समर्थक भी हैरान रह गए।

सार्वजनिक मंच से एक तरफ जहां भाजपा के विधायक सरकार की शान में कसीदे गढ़ रहे थे, तो दूसरी तरफ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने पूर्वर्ती सरकार पर आवासन मंडल बंद करने और बिना जरूरत मकान बनाने पर निशाना साधा।

स्वतंत्रता सेनानी राजस्थान हाउसिंग बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष स्वर्गीय द्वारकादास पुरोहित के नाम से मानसरोवर में बने पार्क में शनिवार को यहां उनकी एक मूर्ति अनावरण कार्यक्रम रखा गया था। उसी मंच अपने भाषण में अशोक लाहोटी ने कहा कि देश में हमारे मुख्यमंत्री की पहचान गांधीवादी और भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की है, यह सुनकर हमारा सीना चौड़ा हो जाता है।

यह भी पढ़ें :  अपनी विफलता छुपाने के लिए मीडिया पर हमले करते हैं गहलोत: डॉ. पूनियां

लाहोटी ने कहा कि गहलोत उस राजा की तरह हैं, जिनके आने से अपने आप सब काम हो जाते हैं। ऐसा ही आपके मानसरोवर में आने से हुआ है। उन्होंने कहा कि यह किसी पार्टी का कार्यक्रम नहीं है, सरकार का है, इसलिए मैं ऐसा कह रहा हूं।

इससे पहले लाहोटी भारी संख्या में अपने समर्थकों के साथ कार्यक्रम स्थल पहुंचे थे। किन्तु उनके समर्थकों को पुलिस ने समारोह पंडाल में नहीं जाने दिया। इसलिए मन मसोसकर उनको बाहर ही खड़े रहना पड़ा।

आवासन मंडल की उपलब्धियों को लेकर आयुक्त पवन अरोड़ा ने आवासन मंडल की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद आवासन मंडल पूरी ऊर्जा के साथ काम कर रहा है।

इस अवसर पर बगरू विधायक गंगादेवी, सांगानेर विधायक, किशनपोल विधायक अमीन कागज़ी, कांग्रेसी नेता और सांगानेर के चुनाव में लाहोटी के प्रतिद्वंद्वी रहे पुष्पेंद्र भारद्वाज और द्वारकादास के पुत्र विजय कुमार पुरोहित एवं उनके परिवार के सदस्य भी उपस्थित थे।

यह कहा अशोक लाहोटी ने

https://www.facebook.com/318732878524286/posts/959566247774276/

“मुख्यमंत्री जी मैं इसके लिए भी आपका आभार प्रकट कर रहा हूँ कि हमारी दो तीन मांगें थीं, जिनके लिए हम लगातार पत्र लिख रहे थे और बजट की डिमांड में भी लिख रहे थे, लेकिन उन पर आपकी अचानक नज़र पड़ी और आपने स्वयं अपने हृदय के साथ जयपुर का एक बड़ा सेंट्रल पार्क इस हिस्से में देने की घोषणा की है।

इसके लिए मैं आपका आभार प्रकट करता हूँ। दूसरा, पृथ्वीराज नगर की पानी की बड़ी मांग थी, पृथ्वीराज नगर से हज़ारों करोड़ रुपये इकट्ठा हुए, लेकिन हमें लग रहा था कि कहीं सरकार बदलते ही यह योजना ठप न हो जाए। आपने इस योजना के लिए टेंडर भी करवा दिए हैं।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस के मंत्रियों को जिलों की जिम्मेदारी, पढ़िए किसको, कहां मिली?

मैं इसके लिए भी आपका आभार प्रकट करता हूँ। लाहोटी ने कहा जब मैं यहां कार्यक्रम में आ रहा था तो प्रशासन के लोगों ने मुझसे कहा यह तो सरकार का कार्यक्रम है, क्या आप कार्यक्रम में आओगे, तो मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ और मैंने कहा मैं क्यों नहीं आऊंगा।

चुनाव तो बस 10 दिन के हैं, उसके बाद कौनसी पार्टी है, सरकार सबकी है। ये सरकार हमारी भी है और जब आप मुख्यमंत्री और मंत्री बन गए हैं, तो आप हमारे भी मुख्यमंत्री और मंत्री हैं। हम क्यों नहीं आएंगे और हमारे सारे पार्टी के कार्यकर्ता भी आपके स्वागत के लिए यहां पर आए हैं।

ये राजस्थान की हमारी परम्परा है अतिथि देवो भव:, आप यहां पधारे इसके लिए मैं आपका स्वागत करता हूँ। उन्होंने उदाहरण के लिए एक कहावत भी सुनाई- कि एक राजा ने किसी से पूछा कि मांगो क्या चाहिए। तभी कांग्रेस विधायक मंच पर यूडीएच मंत्री से कुछ बोलने लगीं, तो लाहोटी ने टोकते हुए कह दिया- गंगादेवी जी आप तो राज में हो, रोज़ाना मिल लेते हो, आज दो मिनट हमारे लिए भी रहने दो।

लाहोटी ने फिर कहानी आगे बढ़ाते हुए कहा- राजा ने किसी से पूछा आपको क्या चाहिए तो उन्होंने कहा महाराज कुछ नहीं चाहिए आप हमारे गांव में बस एक बार पधार जाओ तो ठीक वैसे ही आज मुख्यमंत्री जी हमारे गांव में पधार गए तो मैं समझता हूँ कि हमारे सांगानेर विधानसभा क्षेत्र की सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा।

पानी, बिजली की समस्या भी ख़त्म हो जाएगी और आज यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल जी भी यहां बैठे हैं। उन्होंने कहा सीएम साहब ये पार्क तभी बन पाएगा जब आप धारीवाल जी को कहोगे कि वो यहां सामने एक फ्लैट ले लें, क्योंकि जयपुर का वो सेंट्रल पार्क तभी बना, जब धारीवाल जी वहां सामने रहने लग गए थे।

यह भी पढ़ें :  घाटे से उबारने के लिए रोडवेज के रोड टैक्स व टोल टैक्स हो माफ - देवनानी

अगर ये एक फ्लैट यहां पर ले लेंगे तो पार्क उससे भी अच्छा बनेगा। लाहोटी ने कहा आपका फिर से आभार प्रकट करते हुए हमें खुशी होती है। चूंकि राज तो आते जाते रहते हैं मुख्यमंत्री बदलते रहते हैं। जब हम दूसरे प्रदेश में जाते हैं और जब कोई कहता है, राजस्थान के मुख्यमंत्री गांधीवादी हैं, ज़ीरो टोलरेंस ऑन करप्शन हैं तो बड़ी खुशी होती है और सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है।

मुझे यह लगता है कि ये दोनों बातें और ज़ीरो टोलरेंस फॉर करप्शन केवल कागज़ की बातें नहीं बनकर रह जाएं। इसके लिए भी आपको समय समय पर रिव्यू करना आवश्यक है। यह मैं छोटा होने के कारण आपसे मांग कर सकता हूं।

सांगानेर की रामपुरा रोड़, मदरामपुरा, शिकारपुरा, प्रतापनगर, कृषि टोल टैक्स में तीन सौ ऐसी कॉलोनियां हैं, जहां आज़ादी के इतने अरसे बाद भी लोग नारकीय जीवन जी रहे हैं। वहां मानवीय आवश्यकता को देखते हुए सीवर लाइन बनवा दीजिए, कुछ प्रोजेक्ट आप सेंक्शन करवा दीजिए और कुछ धारीवाल जी केन्द्र से ले आएँगे।

क्योंकि धारीवाल केन्द्र की मीटिंग में जाते रहते हैं। मुझे पता है वो केन्द्र से प्रोजेक्ट ले जाएंगे और उनके साथ मैं भी दिल्ली चल लूंगा। मुझे पूरा विश्वास है मेरी ये मांगें आप पूरा करेंगे!”