सांसद हनुमान बेनीवाल ने अशोक गहलोत को बताया निरंकुश मुख्यमंत्री

Jaipur news

राजस्थान के तापमान में बढ़ोतरी हो रही है, तो वहीं इन दिनों मरुधरा की सियासत का तापमान भी बढ़ा हुआ दिखाई दे रहा है। महज 14 महीने पहले अस्तित्व में आई राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रदेश में सरकार के ऊपर हमलावर है।

बात करें राजस्थान सरकार की तो प्रदेश सरकार को एक के बाद एक बड़े आरोप झेलने पड़ रहे हैं, वजह है प्रदेश में बढ़ते अपराध और अमानवीय कृत्य। प्रदेश की कांग्रेस सरकार एक तरफ जहाँ आंतरिक कलह से गुजर रही है।

वहीं दूसरी और विपक्ष की पार्टियों के आरोपों के बाण भी लगातार सरकार पर चल रहे हैं। ऐसे में सरकार की नाकामी का ठीकरा अगर किसी पर फूट रहा है तो वो है सरकार के मुखिया होने के नाते सीएम अशोक गहलोत पर।

सरकार के गठन से ही 2 धड़ों में बंटी हुई कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट का गुट इस वक्त चुप है और पूरे प्रकरण को शांति से देख रहा है।

दम घुटने से जालोर पुलिस लाइन में तैनात अधिकारी की मौत

पहले परिवहन विभाग में हुई करोड़ों की घूसखोरी के बाद अब नागौर और बाड़मेर में हुए अमानवीय कृत्य को लेकर सीएम गहलोत और उनकी सरकार पूरी तरह से निशाने पर आ गई है।

परिवहन विभाग मामले के साथ ही नागौर और बाड़मेर का मामला आरएलपी जोरो-शोरों से उठा रही है। इस मामले को लेकर आरएलपी ने प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

जहाँ एकतरफ आरएलपी के विधायक नागौर में धरना प्रदर्शन पर बैठे हैं, तो आरएलपी के मुखिया और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल इस पूरे मामले का मोर्चा सोशल मीडिया पर संभाल रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  खींवसर और मंडावा में 21 को चुनाव, परिणाम आएगा...

बेनीवाल लगातार एक के बाद एक ट्वीट कर सीएम गहलोत पर सवाल खड़े कर रहे हैं। तो चलिए आपको बताते हैं कि बेनीवाल ने ट्वीट के जरिए क्या कहा…

screenshot 20200222 160656 twitter8644092872620657183

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने भी केंद्रीय मंत्री समेत तीन सदस्यीय दल को नागौर में भेजकर रिपोर्ट मांगी है, जिसकी आज सतीश पूनिया को रिपोर्ट मिलने वाली है।