राजस्थान के हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेज, 15 नए मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा

Jaipur news

राजस्थान के प्रत्येक जिले में चिकित्सा शिक्षा को विस्तार देते हुए मेडिकल कॉलेज खोलने का फैसला किया गया है। राज्य सरकार ने अपने बजट भाषण में प्रदेश में 15 नए मेडिकल कॉलेज खोलने का ऐलान किया है।

हालांकि, सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज खोलने की योजना का ऐलान केंद्रीय बजट भाषण में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पिछले दिनों कर दिया था, लेकिन उसी घोषणा को दोबारा घोषित करते हुए राज्य सरकार ने भी सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज खोलने की बात कही है।

इससे पहले तत्कालीन वसुंधरा राजे सरकार ने 2015 में प्रदेश में 7 नए मेडिकल कॉलेज खुले थे, जिसके बाद राजस्थान में मेडिकल कॉलेजों की संख्या बढ़कर 15 हो गई थी।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने बजट भाषण में कहा कि 15 जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने के लिए 5000 करोड रुपए की आवश्यकता होगी। जिसमें से 3000 करोड़ पर केंद्र सरकार और 2000 करोड रुपए राज्य सरकार वहन करेगी।

“निरोगी राजस्थान” अभियान की शुरुआत करते हुए केंद्र सरकार के द्वारा घोषित मेडिकल कॉलेजों को खुद के द्वारा स्थापित मेडिकल कॉलेज बताकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने श्रेय लेने का प्रयास किया है।

उल्लेखनीय है कि देश भर में अब तक जहां पर भी मेडिकल कॉलेज स्थापित हुए हैं, वहां पर सभी राज्यों में केंद्र सरकार के द्वारा 60% खर्चा वहन किया जाता है, जबकि 40% खर्चा राज्य सरकार के द्वारा उठाया जाता है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने साल 2019 2020 का बजट भाषण कहते हुए ऐलान किया था कि प्रदेश में 6 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। जिनमें बूंदी, बांसवाड़ा, अलवर, श्रीगंगानगर, बारा और चित्तौड़गढ़ शामिल थे, किंतु अभी तक भी इन मेडिकल कॉलेजों के लिए प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें :  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निहारी रोहित चौधरी की 'कला प्रदर्शनी'

वर्तमान में राजस्थान में जयपुर, कोटा, अजमेर, जोधपुर, उदयपुर, बीकानेर, झुंझुनु, चूरू, टोंक, पाली, राजसमंद, भरतपुर, बाड़मेर, नागौर जैसे जिलों में मेडिकल कॉलेज स्थापित हो चुके हैं।

चिकित्सा शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने अपने बजट भाषण में ऐलान किया था कि पूरे देश के सभी जिलों में अगले 4 साल के दौरान मेडिकल कॉलेज स्थापित किए जाएंगे।