निकाय उप चुनाव में 30 में से 22 सीट पर जीती भाजपा

-जनता ने लगाई कांग्रेस सरकार के
कुशासन पर मोहर: डाॅ. सतीश पूनियां

जयपुर, 19 फरवरी 2020।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि नगर पालिका/नगर परिषद के उपचुनाव के बाद आये चुनाव परिणाम में कांग्रेस की करारी हार हुई है और प्रदेश की जनता ने कांग्रेस के कुशासन पर मोहर लगाई है।

जबसे कांग्रेस राजस्थान में सत्ता में आई है, तबसे राजस्थान के विकास का पहिया वापस पीछे की ओर घूम गया है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री और उप-मुख्यमंत्री दिल्ली दरबार में ही हाजरी लगाने में व्यस्त रहते है।

प्रदेश में भ्रष्टाचार चरम पर है, सरकार के मंत्री बेशर्मी से भ्रष्टाचारियों के बचाव में खुलकर बयान दे रहे है, किसान सुसाईट नोट लिखकर आत्महत्या कर रहे है, महिलायें ना घर में सुरक्षित है, न बाहर सुरक्षित है, दलितों पर अत्याचार की घटनाओं में 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि कांग्रेस की हठधर्मिता का आलम यह है कि मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को राजस्थान में लागू नहीं किया जा रहा है, सीएए और एनपीआर के राष्ट्रीय हित जैसे मुद्दों पर भी कांग्रेस तुष्टीकरण की राजनीति कर रही है।

उसी का परिणाम है कि इन निकाय उपचुनाव में प्रदेश की जनता ने उनको आईना दिखा दिया है और भाजपा के पक्ष में विश्वास जताया है।

आमेर विधायक डाॅ. सतीश पूनियां ने विधानसभा में क्षेत्र की बिजली समस्या समाधान की मांग

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं आमेर विधायक डाॅ. सतीश पूनियां ने बुधवार को विधानसभा में प्रक्रिया नियम 295 के अंतर्गत विशेष उल्लेख प्रस्ताव में आमेर विधानसभा के शहरी वार्ड की बिजली संबंधी समस्या के समाधान की मांग की, जिसमें वार्ड 91 के लोगों को बिजली संबंधी कार्यों के लिए 40 किलोमीटर दूर जाना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें :  पायलट पर गहलोत का सियासी प्रहार: जनता मुख्यमंत्री मुझे बनना चाहती थी, कुछ लोग जबरन घुस रहे थे

डाॅ. पूनियां ने कहा कि आमेर क्षेत्र के वार्ड नम्बर 91, पुनर्गठन पश्चात वार्ड संख्या 1,2,3 एवं वार्ड 4 के नगर निगम अंतर्गत आने वाले आबादी क्षेत्रों को वर्तमान में विद्युत विभाग द्वारा शहरी क्षेत्र अर्थात जे.सी.सी. से जुडा हुआ नहीं माने जाने के कारण वहां के स्थानीय निवासियों को विद्युत संबंधी छोटे-छोटे कार्यों के लिये यथा मीटर बदलना, नये कनेक्शन जारी करवाना, मीटर की रिपोर्ट, विद्युत व्यवधान आदि हेतु पहले कुंडा की ढाणी और बाद में कनिष्ठ अभियंता, कार्यालय भानपुरकलां जाना पड़ता हैं, जो लगभग 40 किलोमीटर दूर स्थित हैं, जबकि कुण्डा, आमेर में ही शहरी कार्यालय, ई-4, जयपुर शहर वृत संचालित हैं।

वर्तमान में विद्युत विभाग ने इन क्षेत्रों को ग्रामीण कार्यालय, कुण्डा की ढाणी को जयपुर जिला वृत के अंतर्गत कर रखा है।
डाॅ. पूनियां ने राज्य सरकार से अनुरोध किया कि स्थानीय निवासियों की इस समस्या को जनहित में दृष्टिगत रखते हुए उक्त वार्ड के नगर निगम अंतर्गत आने वाले आबादी क्षेत्रों को कार्यालय, जयपुर शहर वृत से जोड़ते हुये स्थानीय निवासियों की समस्याओं का निदान करावे, जो स्थानीय आमजन के हित में होगी।