मंत्री खाचरियावास ने कहा: “उनकी मां ने उनका नाम प्रताप सिंह ऐसे ही नहीं रखा है”

Jaipur news

परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास परोक्ष रूप से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चेतावनी देते हुए कहा है कि वह किसी से डरते नहीं है। उनकी मां ने उनका नाम प्रताप सिंह ऐसे ही नहीं रखा था।

एंटी करप्शन ब्यूरो के द्वारा रविवार को परिवहन विभाग में की गई ताबड़तोड़ कार्रवाई के बाद कांग्रेस सरकार में विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए प्रताप सिंह खाचरियावास में सीधे तौर पर नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चुनौती दे डाली।

परिवहन मंत्री ने जिनको सामान्यतः डिप्टी सीएम सचिन पायलट का करीबी माना जाता है, उन्होंने नाम नहीं लिए बगैर एंटी करप्शन ब्यूरो की कार्यवाही को सीधे तौर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को चुनौती देने का प्रयास किए जाने के रूप में देखा जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि शांति धारीवाल की अध्यक्षता वाली एक मंत्रिमंडलीय कमेटी ने पूर्वर्ती बीजेपी सरकार के समय हुए घोटालों में क्लीन चिट देते हुए वसुंधरा राजे सरकार को पाक साफ करार दे दिया था।

इसके कारण मंत्री प्रताप सिंह और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने अशोक गहलोत और शांति धारीवाल को लपेटे का प्रयास किया। परिणाम यह हुआ कि रविवार को एसीबी ने यातायात विभाग में ही ताबड़तोड़ कार्रवाई कर डाली।

प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि वह इस तरह की कार्रवाई से डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने दावा किया कि उनकी मां ने उनका नाम प्रताप सिंह यूं ही नहीं रखा है।

यह भी पढ़ें :  कोविड-19: ड्यूटी पर जमे हुए सरकारी कर्मचारियों को 50 लाख का बीमा