Jaipur news

एक तरफ जहां पाश्चात्य संस्कृति से ओत-प्रोत देशों में 14 फरवरी को प्रेम का प्रतीक वैलेंटाइन डे (Valentine's Day) मनाया जाता है, वहीं दूसरी तरफ राजस्थान सरकार ने इस दिवस को “माता-पिता की पूजन” दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है!

धौलपुर के जिला शिक्षा अधिकारी महेश चंद की तरफ से आदेश निकालकर जिले के सभी सरकारी विद्यालयों में भारतीय संस्कारों को स्वीकार करने के लिए 14 फरवरी को माता-पिता की पूजा करने के लिए दिशा निर्देश दिए गए हैं।

जिला शिक्षा अधिकारी ने अपने आदेश में कहा है कि भारतीय संस्कारों के सिंचन एवं माता पिता की वृद्धावस्था में सेवा करने के संस्कार बच्चों में विकसित करने के लिए “मातृ पितृ पूजन कार्यक्रम” का आगाज किया गया है। इसलिए सभी विद्यालयों को निर्देशित किया गया है कि इस अभियान का हिस्सा बनने का श्रम करें। यह आदेश सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहा है-

राजस्थान में 'वैलेंटाइन डे (Valentine's Day)' पर सरकारी स्कूलों में "माता-पिता पूजन कार्यक्रम" होंगे 1

जिला शिक्षा अधिकारी महेश चंद की तरफ से अपने लिखित आदेश में स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि जिस तरह संस्कृत में “मातृ देवो, भव पितृ देवो भव आचार्य देवो भव”, संस्कृत का श्लोक है, ठीक उसी तरह से सभी सरकारी विद्यालयों में इस भावना से कार्यक्रम का आयोजन किया जाए।

उल्लेखनीय है कि इस तरह के दिशा निर्देश राजस्थान की पिछली वसुंधरा सरकार के समय दिए गए थे, किंतु पिछली सरकार के अनेक दिशानिर्देश वर्तमान सरकार ने पूरी तरह से बदल दिए हैं।