राजस्थान के अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जयपुर स्थित कार्यालय, “भारतीय भवन” की सुरक्षा पुख्ता कर दी है। यहां पर पुलिस की दो बख्तरबंद गाड़ियां तैनात की गई है, जिनमें से एक बुलेट प्रूफ गाड़ी है और दूसरी चेतक है।

उल्लेखनीय है कि आईबी की तरफ से थ्रेट दिया गया था, की राजस्थान, पंजाब और महाराष्ट्र में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यालयों और इस संगठन के पदाधिकारियों पर अलकायदा की तरफ से हमला किया जा सकता है।

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने आरएसएस मुख्यालय की बढ़ाई सुरक्षा, अधिकारियों को नहीं दिया जा रहा प्रोटेक्शन 1

इस मामले को लेकर बुधवार को राजस्थान विधानसभा (Assembly of Rajasthan) में उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने सरकार से सवाल किया था कि ऐसा क्या कारण है, कि पंजाब और महाराष्ट्र की सरकार आरएसएस मुख्यालयों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर रही है, जबकि राजस्थान सरकार ऐसा नहीं कर रही है?

इसको लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष की तरफ से जोरदार हंगामा हुआ और सदन के बाहर राजस्थान की यातायात मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि आरएसएस के लोगों में सुरक्षा व्यवस्था के नाम पर ग्लैमर दिखाने की होड़ मच गई है।

प्रताप सिंह खाचरियावास ने दावा किया कि इंदिरा गांधी राजीव गांधी जैसे गांधी परिवार के नेताओं की हत्या हुई, लेकिन सरकार ने उनकी एसपीजी सुरक्षा हटा ली गई।

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने आरएसएस मुख्यालय की बढ़ाई सुरक्षा, अधिकारियों को नहीं दिया जा रहा प्रोटेक्शन 2

जिस राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक भी पदाधिकारी ने या कार्यकर्ता ने न तो बलिदान दिया और ना ही स्वतंत्रता में इनका कोई योगदान है, फिर भी इन को सुरक्षा मुहैया करवाई जा रही है।

उन्होंने एक बार फिर से मीडिया के सामने दावा किया कि महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का सदस्य था।

अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने आरएसएस मुख्यालय की बढ़ाई सुरक्षा, अधिकारियों को नहीं दिया जा रहा प्रोटेक्शन 3

प्रताप सिंह खाचरियावास के बयान के उलट उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) व्यक्तिगत ईशा रखते हैं इसलिए सुरक्षा मुहैया नहीं करवा रहे हैं।

गुरुवार को आज राजस्थान सरकार ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुख्यालयों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी है। सबसे ज्यादा सुरक्षा जयपुर स्थित भारती भवन पर की है।