युवाओं ने नकारा राहुल गांधी को – देवनानी

-तमाम सरकारी हथकंडो के बावजूद दिशाहीन रैली में नहीं जुटी भीड़, राज्य सरकार ने बेरोजगारों को नहीं दिया भत्ता, वादा खिलाफी से युवाओं में आक्रोश, राहुल भड़का रहे युवाओं को, देश में अराजकता फैलाने का प्रयास।

Jaipur news

पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री व विधायक अजमेर उत्तर वासुदेव देवनानी ने मंगलवार को जयपुर में कांग्रेस द्वारा आयोजित युवा आक्रोश रैली को पूरी तरह नाकाम बताते हुए कहा कि प्रदेश के युवाओं ने राहुल गांधी व युवा कांग्रेस को सिरे से नकार दिया।

देवनानी ने युवा कांग्रेस की रैली को दिशाहीन बताते हुए कहा कि तमाम सरकारी हथकंडों के बावजूद रैली में भीड़ नहीं जुटा सके जबकि राज्य सरकार ने रैली को सफल बनाने के लिए सरकारी मशीनरी का खुलकर दुरूपयोग किया।

सरकारी महाविद्यालयों के विद्यार्थियों व एनएसएस, एनसीसी कैडेट्स को बरगलाकर रैली में ले जाने के लिए बसें लगाई गई। अजमेर के राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य ने तो रैली में भीड़ जुटाने के लिए पूरी तरह कांग्रेस के एजेंट के रूप में काम किया।

जीसीए के 100 से अधिक व्याख्याताओं व कार्मिकों को आकस्मिक अवकाश देकर जयपुर रैली में जाने के लिए मजबूर किया। अजमेर सहित प्रदेश के इंजीनियरिंग काॅलेज से भी विद्यार्थियों को रैली में ले जाया गया।

देवनानी ने कहा कि आज प्रदेश के युवाओं में आक्रोश तो है परन्तु मोदी जी के विरूद्ध ना होकर राज्य सरकार की नीतियों के विरूद्ध है।

विधान सभा चुनाव में वोट हथियाने के लिए 27 लाख बेरोजगारों को भत्ता देने का वादा किया था, परन्तु आज 1 लाख से भी कम युवाओं को यह भत्ता मिल पा रहा है। प्रदेश के 26 लाख युवा खुदको ठगा महसूस कर रहे है।

यह भी पढ़ें :  Video: राजकुमार शर्मा ने मेरी जिंदगी बर्बाद कर दी...करियर तबाह कर दिया...विधायक पर गंभीर आरोप-

उन्होंने राहुल गांधी पर आरोप लगाया कि वे युवाओं को भड़काने का प्रयास कर रहे है। राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा कि भारत की रेपुटेशन विश्व में कम हुई जबकि मोदी जी ने नेतृत्व में देश वैश्विक शक्ति के रूप में उभरा है।

यूपीए सरकार के समय विश्व में जो देश की छवि थी उसे पूरी तरह बदलकर आज सशक्त, समर्थ भारत की छवि बनी है।

देवनानी ने कहा कि राहुल गांधी ने मोदी जी पर देश को बांटने का आरोप लगाया जबकि सत्य यह है कि कांग्रेस ने ही 1947 में धर्म के आधार पर हमारे देश के दो टुकड़े किये थे।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के भाषणों में मोदी फोबिया झलकता है और धीरे-धीरे हालात यह हो गये है कि बीजेपी व मोदी जी का विरोध करते-करते ये भारत का ही विरोध करने लगे है।

कांग्रेस सीएए की आड़ में युवाओं को भड़काकर देश में अराजकता फैलाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की बात करने वाली कांग्रेस ने वर्षों तक एक छत्र राज किया तब उन्हें बढ़ती बेरोजगारी नजर नहीं आ रही थी।

उन्होंने कहा कि मोदी जी ने आकर देश को सम्भाला। कश्मीर से धारा 370 हटाई, कोर्ट से राम मंदिर निर्माण का सुखद फैसला आया, तीन तलाक पर रोक लगी, पडौसी देशो से संचालित आंतकी गतिविधियों पर अंकुश लगाया।

यह सब होता देखकर कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा तो इन्होंने युवाओं को भड़काने का काम शुरू कर दिया। कांग्रेस टुकड़े-टुकड़े गेंग को समर्थन देने के साथ ही देशविरोधी ताकतों का साथ दे रही है।

यह भी पढ़ें :  मंगलवार से राजस्थान में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना, जानिए कहां-कहां होगी?

देवनानी ने कहा कि राजस्थान के युवाओं ने कांग्रेस को सिरे से नकार दिया है और राज्य सरकार की वादा खिलाफी से सरकार के प्रति आक्रोश है। इसका ताजा उदाहरण गत दिनों प्रदेश में हुए छात्रसंघ चुनावों में एनएसयुआई का सफाया होना है।

प्रदेश सरकार ने एक साल के शासन में कोई नई भर्ती नहीं की। पिछली भाजपा सरकार द्वारा की गई भर्तियों पर नियुक्तियां की है। देवनानी ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए ही इस रैली का आयोजन किया