स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान के छात्रों और शिक्षकों से जुटेगी राहुल गांधी की रैली में भीड़

Jaipur news

मंगलवार को जयपुर में अल्बर्ट हॉल के सामने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली का आयोजन किया जा रहा है। इस रैली के लिए राजस्थान सरकार ने पूरी जी जान लगा रखी है।

रैली को लेकर राजस्थान के जयपुर जिले के आसपास और जयपुर के सरकारी प्राइवेट महाविद्यालय और कोचिंग संस्थानों को अपने बच्चों और शिक्षकों समेत शामिल होने के लिए टारगेट दिया गया है।

fb img 1580139616119686912421015576679

वैसे तो अल्बर्ट हॉल के सामने करीब 10 से लेकर 10-15 हज़ार तक के लोग एकत्रित हो सकते हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि कांग्रेस सरकार का टारगेट 20 हजार लोगों को रैली में शामिल करने का है।

जयपुर में गोपालपुरा मोड़ वाली रोड पर जितने भी कोचिंग संस्थान हैं, उन सभी को यातायात मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास के द्वारा मौखिक आदेश दिए गए हैं कि सभी कोचिंग संस्थान अपने यहां पढ़ने वाले छात्रों और पढ़ाने वाले अध्यापकों को लेकर रैली में पहुंचे।

इसके साथ ही प्राइवेट कॉलेजों को भी उनके शिक्षकों और छात्रों को रैली में शामिल होने के लिए लिखित में निर्देश दिए गए हैं। कॉलेजों ने अपने यहां पर नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर दिए हैं कि राहुल गांधी की रैली होने के चलते उनके यहां पर कक्षाएं नहीं लगेगी।

fb img 15801396069837257064169276398349

राहुल गांधी की रैली और राजस्थान सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ मंगलवार को ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने एक विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया है।

इधर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने राहुल गांधी से तीन सवाल किया है। उन्होंने कहा है कि किसानों का संपूर्ण कर्जामाफ नहीं करने, बेरोजगारों को भत्ता नहीं देने और प्रदेश में महिला अत्याचार बढ़ाने के लिए सरकार जवाबदेह और इसके लिए राहुल गांधी प्रदेश से माफी मांगे।

यह भी पढ़ें :  डॉक्टर भी हैरान, कि कैसे बची मरीज की जान?