कैलाश चंद मेघवाल पर कार्रवाई को लेकर डॉ. सतीश पूनिया ने कहा: यह तो “फिल्म का ट्रेलर है, पिक्चर अभी बाकी है”

Jaipur news

24 जनवरी को विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के द्वारा व्हिप जारी जारी करने और व्हिप का उल्लंघन करने वाले विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक कैलाश चंद मेघवाल को लेकर अभी तक बीजेपी कोई निर्णय नहीं कर पाई है।

लेकिन इस बीच पत्रकारों से बात करते हुए भाजपा के अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कड़ी कार्रवाई किए जाने की तरफ इशारा किया है। एक सवाल के जवाब में डॉक्टर सतीश पूनिया ने कहा कि फिल्म का ट्रेलर दिखाया गया है, “पिक्चर अभी पूरी बाकी है।”

सतीश पूनिया ने बीते दिनों भरतपुर में पूर्व बीजेपी विधायक विजय बंसल के साथ भाजपा के दो अन्य पूर्व पार्षदों को पार्टी से बाहर किए जाने को फिल्म का ट्रेलर पहले भी दो बार बता चुके हैं। इसी संदर्भ में डॉक्टर सतीश पूनिया द्वारा बताया नहीं गया है कि कैलाश चंद मेघवाल पर कार्रवाई होगी या नहीं, यह स्पष्ट नहीं है।

इस मामले में अभी तक कैलाश मेघवाल को नोटिस भी नहीं दिया गया है। लेकिन जिस तरह से सतीश पूनिया ने कहा है कि फिल्म का ट्रेलर देखा है, पूरी पिक्चर बाकी है, जिससे साबित होता है कि अभी कैलाश चंद मेघवाल पर सख्त कार्रवाई किए जाने को लेकर पार्टी में एक राय की जा रही है।

हालांकि, इससे पहले “नेशनल दुनिया” के द्वारा सवाल पूछे जाने पर सतीश पूनिया ने कहा था कि व्हिप जारी करना और विधानसभा में व्हिप का उल्लंघन किए जाने को लेकर कार्यवाही विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के हाथ में है।

यह भी पढ़ें :  यज्ञ मानव को श्रेष्ठ कर्म की प्रेरणा देता है पं.अखिलेश रामयणी

लेकिन यही सवाल नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया से पूछे जाने पर उन्होंने कहा था कि अभी तक कैलाश मेघवाल को नोटिस दिए जाने या कोई कार्रवाई किए जाने को लेकर फैसला नहीं किया गया है, इसका निर्णय बीजेपी के विधायक दल ने किया जाएगा।

दूसरी तरफ इसी सवाल पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा था अभी तक कैलाश मेघवाल के खिलाफ कार्रवाई को लेकर कोई भी निर्णय नहीं किया गया है, किन्तु इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह मामला और पार्टी अध्यक्ष सतीश पूनिया के बीच का है, इसलिए वह अधिक नहीं बोल सकते।

किंतु जिस तरह से सोमवार को बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया ने सख्ती दिखाते हुए कैलाश मेघवाल के मामले में ‘पिक्चर अभी बाकी है”, कि बात कहकर कड़ी कार्रवाई किए जाने के संकेत दिए हैं, उससे जाहिर है कि सतीश पूनिया की बीजेपी आलाकमान से बात हो चुकी है, और निकट भविष्य में कैलाश चंद मेघवाल पर पार्टी कोई बड़ी कार्रवाई कर सकती है।

बता दें कि निर्वाचित अध्यक्ष बनने के बाद सतीश पूनिया ने अपने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा था कि “वह अपना इस्तीफा पत्नी को सौंप कर आएं हैं, अगर पार्टी में कोई भी अनुशासन तोड़ने का प्रयास करेगा, तो उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी, चाहे इस मामले में वह खुद ही क्यों न हो।”

आपको बता दें कि विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और भाजपा के विधायक कैलाश चंद मेघवाल बीजेपी अध्यक्ष बनने के बाद से ही लगातार सतीश पूनिया पर हमला करते रहे हैं। बताया जाता है कि मेघवाल पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के इशारे पर राजनीतिक बयानबाजी करते रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  मुख्यमंत्री की विज्ञापन वाली धमकी प्रेस की आजादी के खिलाफ: राजेंद्र सिंह राठौड़

व्हिप का उल्लंघन करने पर 24 जनवरी को ही कैलाश चंद मेघवाल को लेकर विधानसभा के भीतर ही ना पक्ष लॉबी में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनिया के बीच में बहस बताई है।