बेशर्म राहुल गांधी ‘रेप इन इंडिया” की तर्ज़ पर अब राजस्थान में महिला अत्यचार पर क्या कहेंगे: डॉ. पूनियां

Jaipur news

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने एक बार फिर से कांग्रेस पार्टी, अशोक गहलोत और राहुल गांधी पर राजनीतिक हमला किया है। मंगलवार को जयपुर में अल्बर्ट हॉल के सामने राहुल गांधी की युवा आक्रोश रैली पर निशाना साधते हुए सतीश पूनिया ने कहा कि उनके तीन सवाल हैं, जिनका राहुल गांधी जवाब दे और कांग्रेस पार्टी उनका जवाब दें।

उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए शुरुआत में कहा कि देश में कुछ दिन पहले आलू से सोना बनाने की बड़ी चर्चा थी, उस पर छूट चल रहा है, उसका परिणाम कब आएगा, यह भविष्य के गर्भ में है। राजनीति और राजनेताओं के प्रति लोगों के विरोध अलग चीज है, लेकिन राहुल गांधी से कोई ताल्लुक नहीं है।

राहुल कल जययपुर आ रहे हैं, उनका स्वागत है। सतीश पूनिया ने दावा किया कि राहुल गांधी जहां पर भी जाते हैं वहां पर भारतीय जनता पार्टी को फायदा होता है। राहुल गांधी युवावस्था से गृहस्थाश्रम को लांघते हुये सीधे वानप्रस्थ आश्रम में प्रवेश कर रहे हैं, इस बात को देश की जनता अच्छे से जान गई है।

उन्होंने कांग्रेसी पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि नोजवानों और एक वर्ग विशेष को माध्यम बनाकर देश में अराजकता फैलाई है। पिछले दिनों अशोक गहलोत के नेतृत्व में मुस्लिम समुदाय के द्वारा नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करते हुए जो शांति मार्च निकाला गया उस पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अल्बर्ट होल से गांधी सर्किल तक जो शांतिमार्च निकाला।

उस दौरान जयपुर कमिश्नरेट के द्वारा इंटरनेट बंद करने के लिए जो तर्क दिया गया था, इसमें कहा गया था कि इस शांति मार्च के कारण जयपुर शहर में अशांति होने का खतरा है, उसमें स्पष्ट है कि अशांति होने की संभावना थी।विधानसभा सत्र के ऊपर बात करते हुए उन्होंने कहा कि विधानसभा भी 4 दिन के शार्ट नोटिस पर बुलाया। एससी-एसटी एक्ट को भी रेक्टिफाई नहीं कर पाए।

यह भी पढ़ें :  झालावाड़ में बर्ड फ्लू, राजेंद्र राठौड़ ने सरकार को दी चेतावनी

यह सत्र उन्होंने सीएए को इसकी आड़ में पास किया। अब अशोक गहलोत और कांग्रेस राहुल गांधी को बुलाकर सीआर बढाने के लिए नाटक हो रहा है। युवा आक्रोश की जगह पहले नागरिकता संशोधन कानून नाम दे रहे थे।भाजपा अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने सवाल किया।

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए डॉक्टर सतीश पूनिया ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले रैलियों में उन्होंने राजस्थान की रैली में 1 से 10 तक गिनती गिनकर कर्ज़माफ करने का वादा किया था। प्रदेश के 60 लाख किसानों के 99000 करोड़ के वायदे का क्या हुआ? कर्जमाफी को गंगानगर के धरपाल सुथार ने अत्यधिक कर्जे से आत्महत्या की, लिखिति में यह चीज लिखी।

उससे पहले गंगानगर के सुरजाराम ने मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के नाम का जिक्र किया और सुसाइड किया।डॉक्टर सतीश पूनिया ने कहा कि जयपुर में अल्बर्ट हॉल के सामने राहुल गांधी की मंगलवार को युवा आक्रोश रैली है, उससे पहले विधानसभा चुनाव के वक्त राहुल गांधी ने वादा किया था कि युवाओं को और युवतियों को 35000 देंगे।

आज राजस्थान में 27 लाख युवा बेरोजगार बेरोजगारी भत्ते का इंतज़ार कर रहे हैं। राज्य की 2700000 बेरोजगारों में से सरकार ने केवल 158000 को भत्ता देने की बात की है, क्या राहुल गांधी जवाब देंगे?इसके साथ ही डॉ सतीश पूनिया ने कहा कि उन्होंने किसी एक रैली के दौरान मेक इन इंडिया की जगह रेप इन इंडिया कहा था, यह बड़ी बेशर्मी से कहा था।

प्रदेश में आज 65% वृद्धि महिला अत्याचार बढ़े हुए हैं। यह आंकड़ा मध्यप्रदेश से भी ऊपर है।सरकारी कर्मचारियों को शिक्षकों को और बच्चों को जबरदस्ती ले ले जाया जा रहा है। अपनी मर्जी से लोग आएंगे नहीं, तो इसको देखते हुए कांग्रेस विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों साथ ही स्कूलों को टारगेट करके रैली में भीड़ बधाई जा रही है।

यह भी पढ़ें :  कांग्रेस नेता ने कहा: हटाओ धारा 370, तेज हुई मांग

शिक्षकों को टारगेट करके छात्रों को एकत्रित करके रैली में बुलाया जा रहा है। यह भी शिक्षक संघ रूटा की अपील की है। पूनियां ने कहा कि राजस्थान के पांच लोगों को पदमश्री के लिए चयनित किया, इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बधाई के पात्र हैं।

केंद्र सरकार ने उषा, हिम्मतसिंग, मुन्ना मास्टर, अनवर आलम, सुंडाराम को पद्मश्री से सम्मानित किया है।टिड्डी दल के कारण 700 करोड़ का किसानों का नुकसान हुआ है, लेकिन 45 करोड़ की राहत दी है। जैसलमेर के कलेक्टर नवीन मेहता के सम्मानित कर दिया, जबकि नुकसान सर्वाधिक वहीं हुआ।

अपने बिजली के बिल माफ करवाने के लिए कर्मचारियों से झगड़ा करने वाले ऊर्जा मंत्री के पीए का भी सम्मान किया गया है, इससे पता चलता है कि सरकार की नीयत क्या है।