…तो दलितों और मुसलमानों के लिए इस देश का एक और बंटवारा होगा: अमीन खान

Jaipur news

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर राजस्थान की विधानसभा में बहस हो रही है इस दौरान सत्ता पक्ष और विपक्ष की तरफ से एक दूसरे पर जोरदार हमले किए गए।

कांग्रेस के विधायक अमीन खान ने इस कानून के खिलाफ बोलते हुए कहा कि वे देश सेक्युलर धर्मनिरपेक्ष और पंथनिरपेक्ष है, इसलिए यह देश मजबूत है।

अगर इस देश को धर्म और जाति के आधार पर तोला जाने लगा तो दलितों और मुसलमानों के नाम पर इस देश का एक और बंटवारा हो जाएगा।

इससे पहले उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में मुसलमान दुनिया में सबसे ज्यादा दुखी हैं, जबकि भारत के मुसलमानों के साथ हमेशा मिलजुल कर रहते हैं और यही कारण है कि पूरी दुनिया में भारत के हिंदू और मुसलमानों के भाईचारे की मिसाल दी जाती है।

अमीन खान ने कहा कि मैं सरकार और विपक्ष दोनों से निवेदन करना चाहता हूं कि इस तरह से देश को धर्म के नाम पर संप्रदाय के नाम पर और पंथ के नाम पर बांटने का गलत कार्य नहीं करें।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर अल्पसंख्यक के नाम पर मुसलमानों पर कैसे करें, दोहरा व्यवहार किया गया तो आने वाले समय में इस देश का फिर से बटवारा हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि अगर मुसलमानों के लिए अलग देश का बंटवारा हुआ तो दलितों के नाम से फिर बंटवारा होगा, इसलिए इस देश को मजबूत रखने के लिए सबको साथ मिलकर रहना होगा, बांटने से देश के टुकड़े होंगे और इससे किसी का भी फायदा नहीं होने वाला है।

यह भी पढ़ें :  डॉक्टर के नाम से चला रहा था दुकान, चिकित्सा विभाग की टीम ने दबोचा