केंद्र सरकार की हठधर्मिता और विभाजनकारी नीतियों से देश में माहौल है खराब हो गया है: यशवंत सिन्हा

जयपुर।

नरेंद्र मोदी सरकार में शामिल नहीं होने के गम के साथ 6 साल निकाल चुके पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा एक बार फिर नरेंद्र मोदी पर टूट पड़े।

केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ कई सामाजिक संगठन मिलकर देशभर में गांधी शांति यात्रा निकाल रहे हैं। बता दें कि यात्रा 9 जनवरी को मुम्बई गेट वे ऑफ इंडिया से शुरू हुई जो महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान के कई जिलों से होते हुए आज जयपुर पंहुची।

जिसके साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्ह और ज्वाइंट एक्शन फ़ोरम के संयोजक हाफिज मंजूर अली खान भी पहुंचे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा जयपुर के प्रेस क्लब में मीडिया से रूबरू हुए और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की हठधर्मिता और विभाजनकारी नीतियों से देश में माहौल खराब है।

देश मे अमन-चैन, शांति की स्थापना के लिए यह यात्रा निकाली जा रही, जिसके जरिये केंद्र सरकार से नागरिकता बिल वापस लेने, NRC नही लाने की मांग कर रहे है।

सिन्हा ने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कहा, सुप्रीम कोर्ट में बिल को लेकर सुनवाई हुई, जिसमे सुप्रीम कोर्ट ने बिल पर रोक लगाने के लिए मौका खो दिया। यदि सुप्रीम कोर्ट रोक लगाती तो देश में अमन शांति का माहौल बनाने में सहयोग होता।

सरकार नागरिकता कानून को लेकर अटल है लेकिन एक्ट में जो बात लिखी है उसे नियमो में लागु नहीं किया जा सकता, लेकिन मुद्दों से ध्यान भटकने का काम पूरी तरह से किया जा रहा है।

इसलिए केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ देश भर में गांधी शांति यात्रा निकली जा रही है।

यह भी पढ़ें :  अलकायदा के निशाने पर RSS के अधिकारी और कार्यालय, पंजाब, महाराष्ट्र की सरकारें अलर्ट, राजस्थान सरकार नींद में: राठौड़