मंदी के कारण मध्यम वर्ग और गरीब तबके पर सबसे ज्यादा आर्थिक प्रहार हो रहा है: पायलट

Jaipur news

प्रदेश के डिप्टी सीएम सचिन पायलट पीसीसी में गुरूवार को मीडिया से मुखातिब उन्होंने कहा कि लोकसभा और राज्यसभा में जो कानून पारित हुए है वो कानून बन चुका है, लेकिन किसी की असहमति है तो उसको जाहिर करने में किसी की आपत्ति नहीं होनी चाहिए।

अगर कहीं विरोध हो रहा है तो उसका संज्ञान लेकर, ऐसा नहीं है कि पहले किसी कानून को संशोधित नहीं किया गया और उसमें तब्दीली नहीं लाई गई हो।

उन्होंने कहा कि हम तो पुन: विचार का आग्रह कर रहे हैं और कह रहे हैं जो कानून पारित हुआ है सदन के अंदर लोकसभा और राज्यसभा में पुन: विचार हो विरोध प्रकट करने का अधिकार संविधान में है लेकिन कानून को अपने हाथ में कोई ना लें।

लेकिन बिना कानून को तोड़े अपने अधिकार का प्रयोग करके अगर कोई विरोध करता है तो उस पर आक्रमण करना,उसको देश द्रोही बोलना और उसकी परवाह ना करना, उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में अगर संवाद नहीं है, विचार विमर्श नहीं है, अगर विरोधियों को संज्ञान में लेकर हम आगे कार्रवाई नहीं करते हैं तो लोकतंत्र कमजोर होता है।

डिप्टी सीएम पायलट ने राहुल गांधी की जयपुर में होने वाली रैली को लेकर बताया कि रैली के लिए अल्बर्ट हॉल के पास रामनिवास बाग को चिन्हित किया गया है।

पायलट ने बताया कि पहले भी कई बार कांग्रेस द्वारा यहां पर आयोजन किए जा चुके हैं। राहुल गांधी की इस रैली में राजनीतिक कार्यकर्ता तो आएंगे ही लेकिन आमजन के साथ साथ विद्यार्थियों की भी भागीदारी सुनिश्चत की जाएगी, ताकि उनकी आवाज बनकर राहुल गांधी संदेश जयपुर से देंगे।

यह भी पढ़ें :  "गहलोतजी, मैं अध्यक्ष अंतिम चेतावनी दे रहा हूं, संभल जाओ"-पायलट

पायलट ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि शिक्षित लोग बेरोजगार हैं। देशभर के नौजवानों में आज आक्रोश है। अर्थव्यवस्था चरमरा रही है इसी पर राहुल गांधी जयपुर में आकर रैली के माध्यम से ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।

पायलट ने आरोप लगाया कि आज आर्थिक मंदी के कारण मध्यम वर्ग और गरीब तबके पर सबसे ज्यादा आर्थिक प्रहार हो रहा है।