Jaipur news

RLP के संयोजक और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) के भाई खींवसर विधायक नारायण बेनीवाल का आज जन्मदिन है। आज ही सुभाषचंद्र बोस की भी 123वीं जयंती है।

ताकत के बल पर पूरा देश जहां आज़ादी का पहला तराना गाने वाले को याद कर रहा है, वहीं रालोपा के समर्थक, हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal), नारायण बेनीवाल और पश्चिमी राजस्थान के युवा खींवसर के विधायक नारायण बेनीवाल के जन्मदिन को भी जश्न के तौर पर मना रहे हैं।

पहली बार विधायक बने नारायण अब खुद धीरे धीरे जनमंच पर खुलकर सामने आ रहे हैं। सोशल मीडिया (Social Media) समेत तमाम प्लेटफॉर्म पर भी खुद नारायण बेनीवाल ही सक्रिय हो गए हैं।

विधायक बनने से पहले वो पब्लिक डोमेन में कम ही आते थे, हालांकि हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) के सारे संघर्ष और सारी रणनीति नारायण बेनीवाल ही करते रहे हैं।

बताया जाता है कि राजस्थान विश्वविद्यालय में छात्रसंघ अध्यक्ष बनने से लेकर 2008, 2013 और 2018 में विधायक बनने और 2019 में नागौर के सांसद बनने के दौरान हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) के सभी राजनीतिक कार्य नारायण बेनीवाल ही किया करते थे।

जिन कार्यक्रमों में हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) नहीं पहुंच पाते थे, उन सभी कार्यक्रमों में नारायण बेनीवाल उपस्थित होते थे। नारायण बेनीवाल के पहली बार विधायक बनने के बाद आज पहला जन्मदिन है, इसलिए पार्टी के लिए यह जन्मदिन खास भी है।

खुद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) ने भी अपने ट्विटर और फेसबुक अकाउंट भी लिखा है कि ‘संघर्ष के साथी और छोटे भाई नारायण बेनीवाल को जन्मदिन की बहुत-बहुत बधाई।’

खींवसर में हुए उपचुनाव में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) और भारतीय जनता पार्टी के संयुक्त उम्मीदवार रहे नारायण बेनीवाल अब धीरे-धीरे खुलकर पब्लिक डोमेन में सामने आने लगे हैं, उससे पहले पर्दे के पीछे से हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) की समस्त रणनीति नारायण बेनीवाल ही बनाया करते थे।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) बनाने और उसके बाद रणनीतिक तौर पर पार्टी को क्षेत्रीय पार्टी का दर्जा दिलाने तक में भी हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) के बजाय नारायण बेनीवाल के दिमाग की ही उपज काम कर रही थी।

शनिवार को राजस्थान विधानसभा (Assembly of Rajasthan) का सत्र शुरू होने जा रहा है। उससे पहले भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल के तौर पर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (Rashtriya Loktantrik Party) के तीनों विधायक आज ही भाजपा (BJP) मुख्यालय में होने वाली विधायक दल की बैठक में भाग ले रहे हैं।