डॉ. सतीश पूनिया की टीम तैयार, आलाकमान से मिली हरी झंडी

Jaipur political news

भारतीय जनता पार्टी के नवनिर्वाचित राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया की नई टीम का खाका तैयार हो गया है। इसको लेकर सतीश मुलाने आलाकमान से मुहर भी लगा ली है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक 20 जनवरी को राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के निर्वाचन के वक्त दौरे के दौरान ही उन्हें अपनी टीम को लेकर उनसे बातचीत की और अंतिम मुहर लगवा ली है।

बताया जा रहा है कि डॉ सतीश पूनियां की नई टीम में अधिकांश नए चेहरे होंगे, किन्तु जिन्होंने से कई दिग्गजों ने भाजपाई और पूर्व मंत्रियों के खास लोगों को भी टीम में जगह दी जा सकती है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा नीतीश को आदर्श मानकर भाजपा के अध्यक्ष डॉ. सतीश ने अपनी टीम में अधिकांश नए चेहरे लेंगे, जिनको आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा और संगठन को मजबूत करने के लिए एक्टिव लोगों को आगे बढ़ाया जाएगा।

भाजपा सूत्रों के अनुसार डॉ सतीश पूनिया जब जेपी नड्डा के निर्वाचन के वक्त दिल्ली गए थे, तब अपनी लिस्ट तैयार कर ली थी। उन्होंने इस दौरान अमित शाह और नरेंद्र मोदी से भी मुहर लगवा ली है।

गौरतलब है कि बीते दिनों खुद अमित शाह ने जिक्र किया था कि उनकी टीम में 75% नए चेहरे होंगे, जबकि 25% ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा, जो पार्टी में पहले से बड़े पदों पर बैठे हैं, अथवा बड़े नेताओं के द्वारा उनके नाम से सुझाए जाएंगे।

उल्लेखनीय है कि इस वक्त बीजेपी की प्रदेश कार्यकारिणी में जो लोग मौजूद हैं, उनमें से अधिकांश पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के हैं, जिनको बदलकर डॉक्टर सतीश पूनिया अपनी खुद की टीम बनाना चाहते हैं, ताकि पूरे प्रदेश में संगठन को मजबूती प्रदान की जा सके और संगठन में काम करने वाले लोगों को तहरीज दी जा सके।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान का जुगाड़ मशहूर है, जुगाड़ के लिए जादूगर भी मशहूर हैं, जो 'एलिफेंट ट्रेडिंग' के आविष्कारक हैं: डॉ. सतीश पूनियां

बताया जा रहा है कि डॉ. सतीश पूनिया को न केवल अपने मुताबिक राजस्थान में संगठन को मजबूत करने के लिए फ्री हैंड दे दिया गया है, बल्कि इसके साथ ही संगठन को 2023 के चुनावों के लिए अभी से आक्रामक रुख अख्तियार करके तैयारी शुरू करने के लिए भी निर्देश दिए गए हैं।

यह भी बता दें कि बीते दिनों निकाय चुनाव में गड़बड़ी करने वाले पूर्व विधायक विजय बंसल समेत 3 जनों को पार्टी से बाहर निकाल दिया था।

इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि चाहे कितना भी बड़ा नेता हो, उसको अनुशासनहीनता करने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने को भी कहा गया था।