Education jobs news

राजस्थान में राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव और उनके साथियों के द्वारा लगातार सरकार से बेरोजगारों के संबंध में की जा रही वार्ता और आंदोलन के बाद सरकार बेरोजगारों के लिए कुछ कदम उठाने लगी है।

एक दिन पहले ही बेरोजगार महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव और उनके साथियों के द्वारा जयपुर में संचालित हो रही कोचिंग संस्थानों के यहां पर अयोग्य शिक्षकों के द्वारा शिक्षा दिए जाने का मामला उठाया गया था।

2 अगस्त को प्रस्तावित 31000 पदों पर तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती को लेकर उपेन यादव ने सोमवार को राज्य सरकार के समक्ष बेरोजगारों की समस्याओं को उठाया।

उनके प्रयासों के बाद तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2013 के रिवाइज रिजल्ट से बाहर 434 शिक्षकों को बड़ी राहत मिली है।

रिवाइज रिजल्ट से प्रभावित 434 शिक्षकों के समायोजन एवं स्थायीकरण के लिए राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष उपेन यादव लगातार कोशिश कर रहे थे।

हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी 2 साल से स्थायीकरण एवं समायोजन का इंतजार कर रहे थे।

तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2013 के 434 अभ्यर्थी जॉइनिंग मिलने के बाद रिवाइज रिजल्ट में बाहर हो गए थे।

उसके बाद जनवरी 2018 में हाईकोर्ट ने रिवाइज रिजल्ट से बाहर हुए अभ्यर्थियों को समायोजित करने एवं स्थायीकरण के आदेश दिए थे।


हाईकोर्ट के आदेश के बाद लगातार दो साल तक शिक्षा विभाग पंचायतीराज विभाग में मामला अटका रहा। दोनों विभाग एक दूसरे पर मामले को टालते रहे।

दोनों विभागों के विवाद को देखते हुए 6 जनवरी को मुख्य सचिव ने पंचायती राज विभाग एवं शिक्षा विभाग सहित अन्य अधिकारियों की बैठक ली और बैठक में निर्णय लिया कि 2013 के रिवाइज रिजल्ट में प्रभावित शिक्षकों का स्थायीकरण एवं समायोजन किया जाए।

उपेन यादव ने बताया कि 2012-13 शिक्षक भर्ती में जॉइनिंग के बाद रिक्त हुए पदों पर पुनः लिस्ट नहीं निकालने का बैठक में निर्णय लिया गया।