10 साल पहले अपहरण कर मारी गई भंवरी देवी के बेटे साहिल ने भाभी का 3 साल तक गैंगरेप किया

#Siyasibharat
वर्ष 2011 के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार के जलदाय मंत्री महिपाल मदेरणा और कांग्रेस विधायक मलखान सिंह विश्नोई समेत कुछ लोगों के द्वारा कथित तौर पर एएनएम भंवरी देवी का अपहरण कर उसका मर्डर कर दिया गया था।

उसके बाद अशोक गहलोत के द्वारा प्रकरण की सीबीआई जांच कराने का फैसला किया गया। सीबीआई की विशेष अदालत के द्वारा तत्कालीन मंत्री महिपाल मदेरणा और मलखान सिंह विश्नोई के साथ चार-पांच अन्य आरोपियों को दिसम्बर 2011 में गिरफ्तार किया।

एक तरफ जहां सीबीआई द्वारा महिपाल सिंह मदेरणा, मलखान सिंह विश्नोई और अन्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश की गई तो दूसरी तरफ राज्य की सरकार के द्वारा एएनएम भंवरी देवी के बेटे साहिल को अनुकंपा नियुक्ति के रूप में सरकारी नौकरी का तौफा दिया।

अब ताजा प्रकरण यह हुआ है कि कथित तौर पर मर्डर की गई भंवरी देवी के बेटे साहिल ने अपने चचेरे भाई के साथ मिलकर अपनी ही भाभी का 3 साल तक गैंगरेप किया है। भाभी के द्वारा दोनों के द्वारा लंबे समय तक सामुहिक बलात्कार करने आरोप लगाया है और विषाक्त खाकर अपनी जान देने की कोशिश की है।

जहर खाने के बाद समय पर अस्पताल पहुंचाए जाने के कारण साहिल की चचेरी भाभी अब वक्त पर उपचार मिलने के कारण खतरे से बाहर है। उसके द्वारा आरोप लगाया गया है कि वर्ष 2018 में उसकी साहिल के चचेरे भाई से शादी हुई थी, उसके कुछ ही समय बाद उसके ससुर का एक्सीडेंट हो गया।

चचेरा भाई जोधपुर के अस्पताल में अपने पिता के साथ था और उसने साहिल के साथ अपनी पत्नी को जोधपुर बुलाया। साहिल की भाभी ने आरोप लगाया है कि उसने रास्ते में बंदूक दिखा कर उसके साथ बलात्कार किया और अश्लील फोटो क्लिक कर लीं।

यह भी पढ़ें :  देशद्रोह के जुर्म में गिरफ्तार हो सकते हैं सचिन पायलट?

इसके आगे उसकी भाभी ने बताया है कि लगातार दो महीने तक साहिल और उसका चचेरा भाई उसके कमरे में शराब पीते और दोनों उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म करते थे। इस घटना की जानकारी उसके परिवार को भी थी, किंतु किसी ने भी उसकी मदद नहीं की।

साहिल की भाभी का आरोप है कि 22 जनवरी 2021 को दोनों के द्वारा फिर से उसके साथ दुष्कर्म किया गया, जिससे तंग आकर वह अपने पीहर आ गई। लेकिन साहिल के द्वारा उसको मोबाइल पर अश्लील फोटो व्हाट्सएप किए गए और वापस ससुराल आने का दबाव बनाया।

जब वह वापस नहीं आई तो साहिल उसके पति के साथ पीहर पहुंच गया, वहां पर उसने उसे धमकाया। ऐसे में तंग आकर साहिल की भाभी ने 18 जून को जहर खाकर जान देने की कोशिश की।

गौरतलब है कि सितंबर 2011 में भंवरी देवी के पति अमरचंद के द्वारा पुलिस को मुकदमा दर्ज करवाया गया था। जिसमें अमरचंद ने आरोप लगाया था कि महिपाल मदेरणा, मलखान सिंह विश्नोई समेत तीन-चार अन्य लोग उसकी पत्नी का अपहरण करने के बाद मर्डर कर चुके हैं।

बाद में मीडिया के माध्यम से प्रकरण ने तूल पकड़ा तो तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा मामला पुलिस से लेकर सीबीआई को सौंप दिया गया। दिसंबर 2011 में सीबीआई की विशेष अदालत के द्वारा आदेश देने पर महिपाल मदेरणा व मलखान सिंह विश्नोई समेत अन्य की गिरफ्तारी हुई थी।