सचिन पायलट के पक्ष में उतरे प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष

#Siyasibharat
राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट के पक्ष में अब प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह भी उतर गए हैं। चौधरी नारायण सिंह ने कांग्रेस आलाकमान को एक पत्र लिखकर सत्ता में उन्हें लोगों को भागीदारी देने का आग्रह किया है, जिन्होंने कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए 5 वर्ष तक संघर्ष किया था।

सीधे तौर पर चौधरी नारायण सिंह का यह पत्र सचिन पायलट के पक्ष में माना जा रहा है, क्योंकि पायलट कैंप के लोग भी लगातार 5 वर्ष तक सत्ता के लिए संघर्ष करने वाले कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को सत्ता और संगठन में भागीदारी देने के लिए करीब 1 वर्ष से लड़ाई लड़ रहे हैं।

इससे पहले निर्दलीय और बसपा के 19 विधायकों के द्वारा 25 जून को जयपुर में एक मीटिंग करके मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पक्ष में दबाव की राजनीति शुरू करने का प्लान बनाया गया है। सूत्रों का कहना है कि निर्दलीय विधायकों की तरफ से जानबूझकर एकजुट होकर बयान दिलवाया गया है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ ही रहेंगे।

प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चौधरी नारायण सिंह के द्वारा कहा गया है कि प्रदेश में कांग्रेस की सत्ता हासिल करने के लिए कांग्रेस के जिन कर्मठ कार्यकर्ताओं के द्वारा 5 साल तक संघर्ष किया गया था, उनको वर्तमान सरकार में भागीदारी नहीं मिल रही है इससे कांग्रेस के कार्यकर्ता हतोत्साहित हैं।

इसके साथ ही दांतारामगढ से पूर्व विधायक चौधरी नारायण सिंह ने अपने पत्र में लिखा है कि केंद्र के नरेंद्र मोदी सरकार के द्वारा तीन कृषि कानून बनाए गए हैं, उसके बाद किसानों की हालत और ज्यादा खराब हो रही है। ऐसे में राज्य सरकार को चाहिए कि किसानों के हित में फैसले ले। माना जा रहा है कि चौधरी नारायण सिंह ने राज्य सरकार को संपूर्ण कर्ज माफी का वादा याद दिला दिया है।

यह भी पढ़ें :  उपद्रवियों का सम्मान करना सपा के DNA में शामिल : दिनेश शर्मा