जुड़िये Pilot with people के साथ और लीजिये पायलट कैम्प से मदद, कीजिये मरीजों की सहायता

जयपुर। राजस्थान के पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के द्वारा राज्य में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की सहायता के लिए आगे बढ़कर मदद करने का रास्ता तैयार किया गया है। सचिन पायलट खेमा इस बात में जुट गया है कि राज्य में जिन संक्रमित लोगों को सरकारी सहायता मुहैया नहीं हो पा रही है, उनको जल्दी से जल्दी और उचित सहायता उपलब्ध करवाई जाए।

इसके लिए बकायदा सचिन पायलट के में के द्वारा अलग से टि्वटर हैंडल बनाया गया है। Pilot with people के नाम से संचालित इस ट्विटर हैंडल पर अब तक 4.5 हजार से ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं, जबकि इसके द्वारा आठ लोगों को फॉलो किया जा रहा है, जिनमें मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद भी हैं।

आप भी फॉलो कर सहायता ले सकते हैं-

Take a look at Pilot With People (@PilotWithPeople): https://twitter.com/PilotWithPeople?s=09

गौरतलब है कि सचिन पायलट के द्वारा अपने विधानसभा क्षेत्र टोंक में बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाने के साथ ही लोगों की मदद के लिए भी अपनी एक टीम बनाई है, जो आवश्यकता पड़ने पर लोगों की सहायता कर रही है और संक्रमित मरीजों को उचित उपचार के लिए व्यवस्था करवा रही है।

सचिन पायलट कैंप की ओर से बनाए गए इस ट्विटर हैंडल पर अभी तक जिन लोगों को सहायता चाहिए, उनके ट्वीट को रिट्वीट करने उनको रिप्लाई करने और हेल्प उपलब्ध कराने का काम किया जा रहा है तो इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा तक भी इसकी जानकारी पहुंचाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  विधायक दिव्या मदेरणा लापता नहीं, ऐसे दिया करारा जवाब

उल्लेखनीय है कि अब तक इस तरह से ट्विटर के माध्यम से केवल भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया के द्वारा ही लोगों की मदद करने उनका उत्साह बढ़ाने और कोरोनावायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे फ्रंटलाइन वॉरियर्स का हौसला मजबूत करने के लिए स्वीट और रिट्वीट करने का काम शुरू किया गया है। अन्य किसी भी मंत्री या विधायक के द्वारा अभी तक इस तरह से राजस्थान में नहीं किया जा रहा है।

समझने वाली बात यह है कि जहां एक तरफ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मंत्रिमंडल के सदस्य अपने प्रभार वाले जिलों में नहीं पहुंच पा रहे हैं, मरीजों की सहायता करने के बजाय खुद को अपने बंगलों तक समेट कर बैठ गए हैं, वहीं टोंक विधायक सचिन पायलट की यह मुहिम का ही सराहनीय है।