भाजपा चाहती है प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन लगे, प्रदेश सरकार फैसला ले ही नहीं पा रही है

-कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रदेश में लगे संपूर्ण लॉकडाउन- रामलाल शर्मा

भाजपा मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने सड़कों पर घूमते व्यक्तियों को क्वारंटाइन करने पर उठाया सवाल, कहा इस एडवाइजरी से कोरोना संक्रमण बढ़ने का खतरा ज्यादा

जयपुर। राजस्थान में कोरोनावायरस के मरीजों की संख्या को बढ़ने देखते भारतीय जनता पार्टी संपूर्ण प्रदेश में संपूर्ण लोक डाउन की मांग कर रही है। भाजपा का मानना है कि जब तक प्रदेश में संपूर्ण लॉकडाउन नहीं लगेगा, तब तक कोरोना को नियंत्रित नहीं किया जा सकता है, लेकिन राज्य सरकार अभी तक इसके ऊपर कोई फैसला नहीं ले पा रही है।

भाजपा प्रदेश मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक रामलाल शर्मा ने सरकार द्वारा जारी की गई एडवाइजरी पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुझे लगता है कि राजस्थान की सरकार इस कोरोना महामारी से निपटने के लिए एक के बाद एक फरमान जारी कर रही है और फरमान भी ऐसे है कि वो धरातल पर लागू होंगे या नहीं होंगे, यह भी एक प्रश्नवाचक चिन्ह है। जिस तरीके से सरकार द्वारा एक फरमान जारी किया गया कि सड़कों के ऊपर घूमते हुए व्यक्तियो को क्वारंटाइन कर दिया जाएगा।

क्वारंटाइन करने के समय क्या सरकार के पास इतनी व्यवस्था ही है कि आप रोजाना उनको भोजन खिला सके, उनको रखने की व्यवस्था कर सके और रात्रिकाल में सुरक्षा का जिम्मा किसके पास रहेगा।

जहां प्रदेश में कोरोना की जांच रिपोर्ट आने में 2-3 दिन लग जाते हैं यदि क्वारंटाइन किये हुए व्यक्तियों की संख्या 20 है और उन 20 में से एक व्यक्ति भी संक्रमित है तो एक संक्रमित व्यक्ति शेष 19 व्यक्तियों को संक्रमित करने का काम करेगा, जिससे प्रदेश में एक विस्फोटक स्थिति पैदा होगी।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल के अलावा कोई इतना बड़ा नेता नहीं, जो किसान आंदोलन में डटा हुआ है

राज्य सरकार एक तरफ तो सोशल डिस्टेंसिंग की बात करती है और दूसरी ओर सड़कों पर घूमने वाले व्यक्तियों को क्वारंटाइन कर इकट्ठा करने की बात कहीं जा रही है।

मैं चाहूंगा कि राजस्थान सरकार लोगों को घरों से बाहर ना निकलने दिए जाने पर प्राथमिकता रखें और उसी के आधार पर आज आवश्यकता इस बात की पड़ चुकी है कि प्रदेश के अंदर संपूर्ण लॉकडाउन लगाना जरूरी है तभी इस कोरोना की चैन को तोड़ पाएंगे।

वर्तमान में ही हमारे पास संसाधन कम पड़ चुके हैं और आने वाले समय में कोरोना से लोगों की स्थितियां ओर भयानक हो जाएगी।

इसलिए मैं चाहूंगा कि सरकार अभी भी समय रहते हुए सख्त कड़ाई से लॉकडाउन की घोषणा करें ताकि कोरोना कि इस चैन को तोड़ा जा सके और हम इस कोरोना से जीत सके।

इधर, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष एवं आमेर विधायक डॉ. सतीश पूनियां आमेर विधानसभा क्षेत्र की चिकित्सा व्यवस्थाओं को मजबूत करने के साथ-साथ डॉक्टर्स एवं चिकित्साकर्मियों का मनोबल भी बढ़ा रहे हैं।

डॉ. पूनियां ने आमेर के राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र राधाकिशनपुरा, राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रायथल, राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चौंप, राजकीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गुडासुर्जन के चिकित्साकर्मियों के लिये मास्क, सैनेटाइजर, पीपीई किट और ग्लव्स भिजवाये हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों डॉ. पूनियां ने आमेर के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों का निरीक्षण किया था, इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों से संवाद कर चिकित्सा सुविधाओं एवं संसाधनों के बारे जानकारी ली थी और हमेशा मदद करने को लेकर आश्वस्त किया था।

डॉ. पूनियां ने आमेर के जालसू के लिये विधायक कोष से अत्याधुनिक एंबुलेंस की सौगात, राजधानी जयपुर के आरयूएचएस और जयपुरिया अस्पतालों के लिये 10-10 लाख रुपये चिकित्सा संसाधनों के लिये स्वीकृत किये थे।

यह भी पढ़ें :  विधायक बलवान पूनिया ने अपनी सोने की अंगूठी मुख्यमंत्री राहत कोष में दान दे दी