गहलोत के दो मंत्री भाटी, चांदना के खिलाफ हत्या के प्रयास में सालों से चल रही तफ्तीश

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा के खिलाफ पांच एफआईआर की जांच कर रही सीआईडी सीबी

जयपुर। भाजपा के रार्ष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित 39 विधायकों और सांसदों खिलाफ दर्ज 56 प्रकरणों में प्रदेश की सीआईडी सीबी जांच कर रही है। 39 विधायकों और सांसदों में से 14 विधायक कांग्रेस या सरकार को समर्थन देंने वाले है।

बाकी के 25 जनप्रतिनिधियों में भाजपा के 7 सांसद और 19 विधायक शामिल है। इनमें सबसे ज्यादा प्रकरण राज्यसभा सांसद किरोड़ीलाल मीणा के खिलाफ पुलिस ने दर्ज करवा रखे है।

FB IMG 1619162442337

सीआईडी सीबी के पास सबसे संगीन धाराओं में जांच के लिए पेडिंग चार प्रकरण वर्तमान सरकार में मंत्री अशोक चांदना, भंवर सिंह भाटी और सरकार को समर्थन दे रहे विधायक राजेन्द्र गुढ़ा और बलजीत सिंह यादव के है।

खेल मंत्री अशोक चांदना के खिलाफ 10 अप्रैल, 2017 का जयपुर के ज्योति नगर थाने में पुलिस की तरफ से धारा-307 में एफआईआर दर्ज की गई थी। इस पर अभी तक अनुसंधान जारी है।

चांदना के अलावा एक और मंत्री भंवर सिंह भाटी के खिलाफ भी सात दिसंबर, 2018 को बज्जू थाने में हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया था। इस प्रकरण में भी अभी तक जांच चल रही है।

कांग्रेस सरकार को समर्थन कर रहे विधायक राजेन्द्र गुढ़ा और विधायक बलजीत सिंह यादव पर हत्या के प्रयास के तहत धारा-307 में पुलिस ने मुकदमें दर्ज किए। इनकी जांच अब सीआईडी सीबी कर रही है।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष पर पांच मामले
सीआईडी सीबी के पास पांच मुकदमे भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के खिलाफ जांच में लंबित है।

यह भी पढ़ें :  हनुमान बेनीवाल, सन्नी देओल, विजेंदर सिंह करेंगे तेजाजी की मूर्ति का अनावरण
FB IMG 1619162448821

नड्डा के खिलाफ आपदा प्रबंधन उल्लघंन के पांच प्रकरण बूंदी, नागौर, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़ और डूंगरपुर में दर्ज है। यह सभी मामले कांग्रेस नेताओं की तरफ से दर्ज करवाए गए है।

32 विधायक, 7 सांसदों के खिलाफ जांच प्रक्रियाधीन

सीआईडी सीबी के पास जनप्रतिनिधियों की जांच के लिए आए प्रकरणों में 32 विधायक और 7 सांसदों के प्रकरण लंबित है। इसमें सबसे ज्यादा मामले राज्यसभा सांसद डॉ.किरोड़ीलाल मीणा और टोंक-सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह सिंह जौनापुरिया के नाम से दर्ज है।

इसके अलावा सांसदों में हनुमान बेनीवाल, नरेन्द्र खीचड़, बाबा बालकनाथ, राजवर्धन सिंह और भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री राज्यसभा सांसद भूपेन्द्र यादव के खिलाफ सीआईडी सीबी जांच चल रही है।

महिला विधायक के खिलाफ भी 420 का मामला
सीआईडी सीबी में जांच के लिए लंबित चल रहे प्रकरणों में दो महिला विधायक दिव्या मदेरणा और शोभारानी कुशवाह के खिलाफ दर्ज एफआईआर भी शामिल है।

इसमें कुशवाह के खिलाफ जोधपुर के खाण्डाफलसा थाने में 420 में दर्ज प्रकरण की जांच चल रही है। दिव्या के खिलाफ पूर्ववर्ती सरकार ने 2017 में राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज किया था।

विधायकों पर कानून व्यवस्था खराब करने के मामले

ज्यादातर विधायकों पर कानून व्यवस्था तोड़ने और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले दर्ज पर है। इसके अलावा कई विधायकों पर चार सौ बीसी के प्रकरण दर्ज है। इसकी जांच जारी है।

धारा-420 में पुलिस की तरफ से खुशवीर सिंह जोजावर पर दो ,खिलाड़ीलाल बैरवा, गुरद्वीप सिंह, ओमप्रकाश हुड़ला और राजेन्द्र गुढ़ा पर एक-एक मामला दर्ज है। इसकी जांच भी सीआईडी सीबी को दी गई है।

यह भी पढ़ें :  नागौर मामले पर हनुमान की RLP ही डटी मैदान में, भाजपा ने निभाई महज रस्म अदायगी

अन्य नेताओं में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह, भाजपा सचेतक जोगेश्वर गर्ग और मदन दिलावर पर पुलिस की तरफ से दर्ज प्रकरणों पर जांच चल रही है।