सहाड़ा में भाजपा की राह आसान, लादूलाल पितलिया ने लिया नाम वापस

भीलवाड़ा। राजस्थान में भीलवाड़ा की सहाड़ा विधानसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी के लिए राह आसान होती हुई नजर आ रही है। यहां से भाजपा में बागी होकर निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल करने वाले लादू लाल पितलिया ने अपना नाम वापस ले लिया है।

लादूराम पितलिया ने इससे पहले दिसंबर 2018 की चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी के खिलाफ बगावत करते हुए चुनाव लड़ा था जिसके चलते कांग्रेस के उम्मीदवार कैलाश त्रिवेदी को फायदा हुआ और चुनाव जीतने में कामयाब रहे थे।

लादू लाल के नाम वापस लेने के चलते जहां एक तरफ भारतीय जनता पार्टी को सीधे तौर पर करीब 30,000 से ज्यादा मतों का फायदा होने की उम्मीद है तो दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी के लिए राह कठिन होती हुई नजर आ रही है।

क्योंकि लादू लाल के द्वारा दिसंबर 2018 में चुनाव लड़ा गया था तब उन्होंने इस विधानसभा सीट पर 30000 से अधिक मत प्राप्त किए थे, जिसका को भाजपा को नुकसान उठाना पड़ा और कांग्रेस के कैलाश त्रिवेदी ने चुनाव जीत लिया था।

इससे पहले करीब डेढ़ महीने पहले ही लादू लाल के द्वारा भाजपा ज्वाइन की गई थी, किंतु टिकट नहीं मिलने के कारण लादू लाल जी द्वारा भगवत की गई थी। उन्होंने 30 मार्च को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था।

उल्लेखनीय है कि भीलवाड़ा की सहाड़ा, राजसमंद की राजसमंद और चूरू जिले की सुजानगढ़ सीट पर उपचुनाव हो रहे हैं। सहाड़ा विधानसभा के विधायक कैलाश त्रिवेदी का कोरोना के कारण निधन हो गया था। इसी तरह से राजसमंद से भाजपा के विधायक किरण माहेश्वरी और सुजानगढ़ के मास्टर भंवरलाल मेघवाल का भी कोरोना के चलते निधन हो गया था।

यह भी पढ़ें :  By-election 2021: पहले दिन किसी भी विधानसभा क्षेत्र में नहीं हुए नामांकन पत्र दाखिल