46 दिन पहले भाजपा में वापसी करने वाले लादू लाल पितलिया ने सहाड़ा से ठोका दाम

भीलवाड़ा। भाजपा के वरिष्ठ नेता जेल को टिकट नहीं मिलने के कारण दिसंबर 2018 में भाजपा के भीलवाड़ा जिले की सहाड़ा विधानसभा सीट से रूप लाल जाट के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ 30000 वोट हासिल करने वाले लादू लाल पीतलिया को 46 दिन पहले ही भाजपा में वापसी करवाई गई थी।

लेकिन सहाड़ा विधानसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान भाजपा के द्वारा रतन लाल जाट को टिकट देने से नाराज लादू लाल में एक बार फिर से बगावत शुरू कर दी है। लादू लाल ने कहा है कि भाजपा ने उनको टिकट देने का वादा किया था लेकिन अब टिकट किसी और को दिया जा रहा है, इसलिए वह चुनाव लड़ेंगे।

भाजपा के लादू लाल से पहले कांग्रेस में भी इसी सीट पर बगावत शुरू हो गई है। कांग्रेस के द्वारा दिवंगत विधायक कैलाश त्रिवेदी की पत्नी गायत्री त्रिवेदी को टिकट दिया गया है, लेकिन कैलाश त्रिवेदी के भाई राजेंद्र त्रिवेदी ने भी बगावत कर दी है। उन्होंने कहा है कि टिकट उनका मिलना चाहिए, हमेशा पार्टी के लिए मेहनत उन्होंने की है।

इसके चलते राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के उम्मीदवार बद्री लाल जाट के लिए रास्ते शुभम होने की संभावना बन रही है। हालांकि, अभी नामांकन पत्र भरने की आखिरी तारीख मंगलवार को 30 मार्च है और नाम आपसी की तारीख 3 अप्रैल है। ऐसे में काफी कुछ होना बाकी है।

अगर लादू लाल निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं और भाजपा का उम्मीदवार यहां पर हार जाता है तो यह निश्चित है कि इसको पार्टी अध्यक्ष सतीश पूनिया की नाकामी के रूप में देखा जाएगा, क्योंकि लादू लाल की वापसी खुद सतीश पूनिया ने ही करवाई थी।

यह भी पढ़ें :  सहाड़ा में भाजपा की राह आसान, लादूलाल पितलिया ने लिया नाम वापस