भाजपा अपनी ताकत और संगठन के मजबूत नेटवर्क के बूते पर सभी सीटें जीतेगी: डाॅ. सतीश पूनियां


उम्मीदवार चयन को लेकर पार्टी ने कार्यकर्ताओं से रायशुमारी की और सर्वे कर अच्छी स्क्रीनिंग करवाई हैः डाॅ. पूनियां

पार्टी के पास योग्य एवं क्षमतावान कार्यकर्ताओं की लम्बी खेप, जीताऊ पर विचार करेंगे: डाॅ. पूनियां

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने विधानसभा उपचुनाव की तैयारियों को लेकर मीडिया से बातचीत में कहा कि हमारे लिए सभी सीटें अनुकूल हैं, क्योंकि जो पंचायततीराज के चुनाव हुए थे, इन सारे ही विधानसभा क्षेत्रों में सरकार के खिलाफ लोगों ने जनादेश दिया था और भाजपा का शानदार जीत का आशीर्वाद दिया।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता हर काम को चुनौती के रूप में लेता है, कड़ा परिश्रम करता है। पार्टी ने उपचुनावों को लेकर पहले ही जमीनी तौर पर तैयारी पूरी कर ली है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा राज्य सरकार सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग और रूतबे का लोगों को भय दिखाती है, जिसका पंचायतीराज और निकाय चुनाव में भी सरकार ने भरपूर दुरूपयोग किया, इसके बावजूद इन पर हमारे कार्यकर्ताओं का परिश्रम भारी पड़ेगा।

मीडिया द्वारा पूछे गये सवाल, कांग्रेस की फूट भाजपा को कितना फायदा देती हुई दिख रही है के जवाब में डाॅ. पूनियां ने कहा कि हम कांग्रेस की फूट पर निर्भर नहीं हैं, भाजपा अपनी ताकत और संगठन के मजबूत नेटवर्क के बूते पर सभी सीटें जीतेगी, कांग्रेस का विग्रह और कांग्रेस की फूट वो हमें कितना फायदा देगी यह तो अलग बात है, लेकिन कांग्रेस को नुकसान जरूर करेगी।

क्या भाजपा टिकट सलेक्शन करने की तरफ बढ़ रही है, के जवाब में डाॅ. पूनियां ने कहा कि टिकट के लिए उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया भी हम लोगों ने बहुत पहले शुरू कर दी थी और खासतौर पर सर्वे भी करवाए हैं।

यह भी पढ़ें :  टोंक कलेक्टर को ब्रेन हेमरेज, एसएमएस अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

साथ ही व्यक्तिगत तौर पर भी पार्टी के प्रमुख लोगों ने स्थानीय कार्यकर्ताओं से वार्ता कर फीडबैक लिया, मैं खुद चारों विधानसभा क्षेत्रों में जाकर आया हूँ और उसके अलावा पार्टी के वरिष्ठ नेता, तीनों केन्द्रीय मंत्री, हमारे नेता प्रतिपक्ष और उपनेता प्रतिपक्ष, ये दो-दो लोग प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में गये।

जहाँ इन्होंने पार्टी के बूथ से लेकर और मण्डल स्तर के कार्यकर्ताओं से संवाद कर रायशुमारी की, कुल मिलाकर एक अच्छी स्क्रीनिंग हुई है, अब राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह के साथ बैठकर इस बारे में पूरी चर्चा करेंगे, जो जीताऊ उम्मीदवार होगा उसके बारे में विचार करेंगे।

क्या आपको लगता है कि राजसमंद में टिकट सलेक्शन टफ है, इसके जवाब में डाॅ. पूनियां ने कहा कि टिकट सिलेक्शन कोई टफ नहीं है, क्योंकि पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच में से ही चुनाव लड़ाना है और पार्टी के पास में एक योग्य एवं क्षमतावान और जीतने वाले कार्यकर्ताओं की लम्बी खेप है, उसमें से भी जो भी 21 होगा उसके बारे में विचार करेंगे।

उम्मीदवार चयन में क्या दिवंगत नेताओं के परिजनों के बारे में पार्टी विचार करेगी या फिर कार्यकर्ताओं को भी आप लोग इसमें रखेंगे, इसके जवाब में डाॅ. पूनियां ने कहा कि इसमें कोई मापदंड नहीं है, लेकिन फिर भी जैसे मैंने कहा कि हम इस बात पर अटल है कि, पार्टी की अच्छी बात तो यह है कि हर जगह और दर्जनों कार्यकर्ता जो चुनाव लड़ने में और जीतने में सक्षम हैं, लेकिन फिर भी उसमें से बेहतर सलेक्शन कैसे हो ये सबसे महत्वपूर्ण है।

यह भी पढ़ें :  सरकार के आदेश धत्ता, निजी अस्पतालों में नहीं मिला मरीजों को उपचार

पार्टी के लिए समर्पित, पार्टी के लिए काम करने वाला, हमेशा जुड़ा रहने वाला परिवार और उसमें से भी जीत की सम्भावनाएं, क्योंकि कार्यकर्ता बहुत हैं उनके बीच में से यह भी एक मशक्कत का काम है और मुझे लगता है कि पार्टी में योग्य क्षमतावान व्यक्तियों में से सलेक्शन करेंगे और बाकी सब लोग मिलकर पार्टी के लिए काम करेंगे।