अशोक गहलोत के करीबी विधायक गणेश घोघरा ने आदिवासियों के लिए अलग राज्य की मांग की

जयपुर। अशोक गहलोत के बेहद करीबी और यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष विधायक गणेश घोघरा ने आदिवासियों के लिए अलग धर्म कोड और अलग राज्य की मांग की है।

गणेश घोघरा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि आरएसएस और नरेंद्र मोदी उनको हिंदू बनाना चाहते हैं किंतु वह लोग हिंदू नहीं है, वे आदिवासी हैं और आदिवासी संस्कृति में ही रहना चाहते हैं, इसके लिए उनके लिए अलग धर्म कोड और अलग राज्य बनना चाहिए।

गणेश घोघरा ने मंगलवार को विधानसभा में बोलते हुए कहा कि आदिवासी हिंदू नहीं है, किंतु स्वतंत्र भारत में उनको हिंदू बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं, खासतौर से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संघचालक मोहन भागवत और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा।

बुधवार को विधानसभा के बाहर गणेश घोघरा ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा है कि आदिवासी हिंदू नहीं है और उनको हिंदू बनाने के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनके लिए अलग धर्म कोड और अलग राज्य होना चाहिए।

इससे पहले मंगलवार को जब गणेश घोघरा ने विधानसभा में कहा कि आदिवासी हिंदू नहीं होते हैं, आदिवासी अलग धर्म है, तब भाजपा के आदिवासी विधायकों के द्वारा इसका पुरजोर शब्दों में विरोध किया गया और कहा गया कि अगर आपको धर्म परिवर्तन करना है तो कर लीजिए, लेकिन आदिवासी हमेशा से हिंदू थे, हिंदू हैं और हिंदू ही रहेंगे।

इस अवसर पर विधानसभा सभापति राजेंद्र पारीक ने कहा कि राजस्थान विधानसभा किसी भी धर्म के लिए लड़ने का अड्डा नहीं है, यहां पर किसी भी धर्म जाति या प्रांत के आधार पर बहस नहीं होती है, लोकतंत्र संविधान के अनुसार चलता है, इसलिए कोई भी विधायक धर्म विशेष के जाति विशेष का सहारा नहीं ले।

यह भी पढ़ें :  ऋणमाफी का दावा झूठा: राजस्थान में कर्ज से परेशान एक और किसान ने किया सुसाइड