प्रदेश की बहन-बेटियों को सुरक्षा देने में मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह विफल

-किसानों के नाम पर कांग्रेस का पैदल मार्च पाखंड की राजनीति, संपूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा पूरा करें मुख्यमंत्री गहलोत। विभिन्न मांगों को लेकर धरना दे रहे युवाओं और पटवारियों से वार्ता कर समाधान निकाले गहलोत सरकार : डाॅ. पूनियां

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने गहलोत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की बहन-बेटियों को सुरक्षा देने में मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह विफल हैं, पिलानी में मासूम के साथ की गई दरिंदगी से पूरा प्रदेश शर्मसार है।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के शासन में ना आमजन सुरक्षित है, ना बहन-बेटियाँ सुरक्षित हैं और कांग्रेस के दिल्ली दरबार को खुश करने के लिए मुख्यमंत्री एवं उनके मंत्री पैदल मार्च कर पाखण्ड की राजनीति करने में व्यस्त हैं।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि कांग्रेस सरकार के मंत्रियों एवं नेताओं को किसानों के नाम पर पैदल मार्च का ढोंग करने के बजाए मुख्यमंत्री गहलोत को सम्पूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा पूरा करना चाहिए, जो उनके नेता राहुल गाँधी और उन्होंने चुनावी सभाओं में प्रदेश के किसानों से किया था।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि लम्बित भर्तियों को पूरी करने सहित विभिन्न मांगों को लेकर जयपुर में धरना दे रहे युवाओं से मिलने की मुख्यमंत्री गहलोत और उनके किसी मंत्री को फुर्सत नहीं है और ना ही अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे पटवारियों से संवाद किया है, गहलोत सरकार इनसे वार्ता कर समाधान निकाले l

डाॅ. पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत के कुशासन से हर वर्ग परेशान है, युवा भर्तियाँ पूरी होने का इंतजार कर रहे हैं, किसान सम्पूर्ण कर्जामाफी का इंतजार कर रहे हैं, संविदाकर्मी नियमित होने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री का जनहित के मुद्दों से कोई सरोकार नहीं है।

यह भी पढ़ें :  लगता है अशोक गहलोत की सरकार के गिरने का समय आ गया है?