रिश्वतखोर SDM का विवाह कल: घूसखोर पिंकी मीणा की शादी के कार्ड में संदेश “इतना ही लो थाली में, व्यर्थ ना जाये नाली में”

जयपुर। दौसा में नेशनल हाईवे निर्माण के ठेकेदारों से 10 लाख रुपये की रिश्वत मांगने वाली एसडीएम पिंकी मीणा की 16 फरवरी को शादी है। शादी के कार्ड पर सामाजिक संदेश लिखा हुआ है, “इतना ही लो थाली में व्यर्थ ना जाए नाली में।”

पिंकी मीणा को 13 जनवरी को ही गिरफ्तार किया गया था, उसके बाद जयपुर की महिला जेल में न्यायिक अभिरक्षा में 29 फरवरी तक भेजा गया था। इसी महीने की 10 तारीख को कोर्ट के द्वारा पिंकी मीणा को शादी के लिए 10 दिन की अंतरिम जमानत दी गई थी।

16 फरवरी को पिंकी मीणा की शादी है और उसके बाद 21 फरवरी को पिंकी मीणा बहुत फिर से सरेंडर करना होगा। पिंकी मीणा के द्वारा शादी का हवाला देते हुए जमानत की अर्जी दाखिल की गई थी।

IMG 20210215 WA0006

न्यायिक अधिकारी से हो रही है शादी

मजेदार बात यह है कि निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा की शादी एक न्यायिक अधिकारी से हो रही है, जो राजस्थान न्यायिक सेवा से चयनित हुए हैं। सवाल यह खड़ा होता है कि रिश्वतखोरी की आरोपी महिला से कोई कैसे शादी कर सकता है?

विवाह के कार्ड पर सामाजिक संदेश

रिश्वतखोरी के आरोप में फंसे पूर्व एसडीएम पिंकी मीणा के द्वारा अपने शादी के कार्ड के ऊपर सामाजिक संदेश लिखवाया गया है, जिसमें लिखा है, “इतना ही लो थाली में व्यर्थ ना जाए नाली में।” इसके अलावा कार्ड में लिखा है, “2 गज की दूरी वहां से जरूरी”

IMG 20210215 WA0008

पिंकी मीणा के साथ पुष्कर मित्तल को भी पकड़ा था

रिश्वत लेने के आरोप में पहले दोसा की एसडीएम पिंकी मीणा को गिरफ्तार किया गया था। उसके साथ ही दूसरे एसडीएम पुष्कर मित्तल को भी 5 लाख रुपये की रिश्वत के आरोप में पकड़ा था। इसके साथ ही दलाल नीरज मीणा को गिरफ्तार किया गया था, जिससे पूछताछ करने के बाद एसीबी ने 2 साल के तत्कालीन पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल को दबोचा जिसके द्वारा 38 लाख रुपये की राशि दी गई थी।

यह भी पढ़ें :  अशोक गहलोत: अपने ही राजनीतिक गुरू की सियासी हत्या कर संभाली थी प्रदेश की कमान