आईपीएस मनीष अग्रवाल गिरफ्तार, 38 लाख रुपये रिश्वत में फंसे

जयपुर। दौसा जिले के तत्कालीन आईपीएस अधिकारी मनीष अग्रवाल को रिश्वत के आरोप में आज एसीबी के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। आईपीएस अग्रवाल पर 38 लाख रुपये रिश्वत लेने का आरोप है।

आरोप है कि मनीष अग्रवाल ने 7 लाख रुपये मासिक और एफआईआर के एवज में 10 लाख रुपये मांगे थे। कुल 38 लाख की रिश्वत के आरोप में लालसोट में पेट्रोल पंप मालिक, जो कि दलाल है, नीरज मीणा को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था।

एसीबी डीजी भगवान लाल सोनी ने बताया कि आरोपी आईपीएस मनीष अग्रवाल दलाल नीरज मीणा के माध्यम से हाईवे निर्माण करने वाली कंपनी से हर माह 7 लाख के हिसाब से 4 माह के 28 लाख और मुकदमे के बदले में 10 लाख रुपये लिए थे।

गिरफ्तार करने से पहले आरोप के बाद आईपीएस मनीष अग्रवाल को सस्पेंड कर दिया गया था। दलाल नीरज के द्वारा राज उगलने और पूछताछ के बाद मंगलवार को तत्कालीन दौसा पुलिस अधीक्षक आईपीएस मनीष अग्रवाल को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें :  सरकारी नौकरी की आस लगाए युवाओं के सपनों से यूं खेल रहे हैं राजनीतिक दल—