कांग्रेस को 19 निकायों में बहुमत मिला है, माकन और डोटासरा बतायें कि 50 का जादू कैसे करेंगे: डाॅ. पूनियां

-गहलोत सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ राजस्थान की जनता ने 90 में से 71 निकायों में कांग्रेस को शिकस्त दी है। गहलोत, माकन और डोटासरा के झूठे बयानों से क्या रातों-रात आँकड़े बदल जायेंगे। गहलोत, माकन और डोटासरा दिल्ली में क्या जवाब देंगे। 64.57 प्रतिशत वोट कांग्रेस के खिलाफ पड़े हैं और मुख्यमंत्री गहलोत झूठी पीठ थपथपा रहे हैं: डाॅ. पूनियां

जयपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि राजस्थान में एक धारणा होती है कि जिसकी सरकार होती है उसको पंचायतीराज और नगर निकाय चुनाव में बढ़त मिलती है, लेकिन पंचायतीराज चुनाव से लेकर अब निकाय चुनाव में प्रदेश की जनता ने यह मिथक तोड़ा है।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस प्रभारी अजय माकन के ट्वीट देखे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविन्द डोटासरा के बयान से मुझे ऐसा लगा कि इनके झूठे आँकड़ों से और खुद की पीठ थप-थपाने से रातों रात आँकड़ें बदल जायेंगे क्या और कांग्रेस को निकायों में बहुमत मिल जायेगा क्या?

हिन्दी फिल्म का गाना है ‘‘खुशबू आ नहीं सकती कागज के फूलों से, सच्चाई छुप नहीं सकती झूठे उसूलों से, वादा तेरा वादा’’ इस चुनाव में भी गहलोत सरकार की वादाखिलाफी के खिलाफ राजस्थान की जनता ने 90 में से 71 निकायों में कांग्रेस पार्टी को शिकस्त दी है, मात्र 19 में स्पष्ट बहुमत है और भाजपा को 23 में स्पष्ट बहुमत मिला है।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि इन नतीजों से मुख्यमंत्री गहलोत 1948 के आँकड़े और प्रतिशत निकालेंगे और कहेंगे कि नेहरूजी के जमाने में हमें इतना बहुमत मिला था, लेकिन हकीकत यह है कि पहली बार सत्ताधारी दल को इतनी बड़ी हार मिली है।

यह भी पढ़ें :  कोरोना संकट में बाड़मेर की बेटी ओम प्रभा जयपुर में निभा रही फर्ज

उन्होंने कहा कि 29 लाख मतदाताओं में से 22 लाख वोट पड़े, जिनमें से 14 लाख से अधिक वोट कांग्रेस के खिलाफ पडे़, जो सत्ता के खिलाफ बड़ा वोट प्रतिशत है। 34.5 प्रतिशत वोट भाजपा को, 64.57 प्रतिशत कांग्रेस के खिलाफ वोट पड़े, इसके बाद भी ये खुद की झूठी पीठ थपथपा रहे हैं।

राजस्थान के हृदय स्थल अजमेर नगर निगम में कांग्रेस को शिकस्त मिली और भाजपा को बहुमत, 9 नगर परिषद में से 1 में कांग्रेस जीती और आठ में हारी और भाजपा 4 में जीती।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि पुनर्सीमांकन में इनके द्वारा की गई गड़बड़ियां यथावत हैं। कांग्रेस ने चुनाव जीतने के लिए सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर एडी-चोटी का जोर लगाया, षडयंत्र किये, केकड़ी में अनेक व्यापारियों पर सैम्पलिंग कर उन पर मुकदमे दर्ज कर उन्हें डराया-धमकाया गया। एक नगर परिषद चुनाव के दौरान हमारे सांसद के साथ बदसलूकी की गई।

सांचैर की नगरपालिका में भाजपा कार्यकर्ताओं ने काफी संख्या में डुप्लीकेट वोट पकड़े। साथ ही सांचैर में फर्जी एवं डुप्लीकेट आधार कार्ड बनाने की जानकारी भी हमें मिली है।

अन्य स्थानों पर भी इतना षडयंत्र करने के बाद ना कांग्रेस निगम में जीत पाई, ना नगर परिषदों में बहुमत आया, केवल नगर पालिकाओं के जरिए अपनी पीठ थपथपा रहे हैं।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि गोविन्द डोटासरा कह रहे हैं कि 50 निकायों में बोर्ड बनायेंगे, जबकि जीते 19 हैं, माकन और डोटासरा बतायें कि 50 का जादू कैसे करेंगे।

इसका मतलब सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर निर्दलीयों को प्रभावित करने की कोशिश करेंगे, जो उनकी पहले से फितरत है।

यह भी पढ़ें :  यह हैं BJP की बेंगलुरु ग्रामीण से लोकसभा उम्मीदवार, विस्तार से जानिए इनके बारे में-

उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के परिश्रम की ताकत को धन्यवाद देता हूँ, जिन्होंने सत्ता के विरूद्ध मजबूती से लड़ाई लड़ी।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि गहलोत, माकन और डोटासरा दिल्ली में कांग्रेस आलाकमान को क्या जवाब देंगे, इस बात की फिक्र हो रही है।

डाॅ. पूनियां के साथ प्रेसवार्ता में प्रदेश उपाध्यक्ष सरदार अजयपाल सिंह, प्रदेश मुख्य प्रवक्ता रामलाल शर्मा, प्रदेश मंत्री जितेन्द्र गोठवाल, प्रदेश मीडिया प्रभारी विमल कटियार इत्यादि मौजूद रहे।