मनीषा डूडी लव जिहाद के मामले में नया मोड़, अब राजपूत नेता पर केस दर्ज

बीकानेर। पिछले दिनों राजस्थान के पाकिस्तान की सीमा से सटे बीकानेर जिले की कोलायत तहसील में कथित तौर पर एक 18 साल की लड़की मनीषा डूडी के साथ लव जिहाद का प्रकरण घटित हुआ था, जिसको लेकर पूरे इलाके में काफी तनाव रहा है।

इस प्रकरण को लेकर दो समुदायों के बीच सियासत करने वाले लोगों के द्वारा खाई पैदा करने का प्रयास भी किया गया, और कई लोगों ने सार्वजनिक मंच पर उटपटांग भाषण भी दिए गए। मुस्लिम समाज के भी कुछ नेताओं के ऑडियो वायरल हो रहे हैं, जिसमें तरह-तरह की बातें की जा रही हैं।

श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना के द्वारा भी पिछले रविवार को बीकानेर कलेक्टर परिसर में एक रैली का आयोजन किया गया था, जिसमें उन्होंने मनीषा डूडी के साथ लव जिहाद होने और सारे हिंदुओं को जातियों में बंटकर रहने के बजाय एक होने का आह्वान किया था।

जानकारी में आया है कि इस मामले में 2 दिन पहले ही महिपाल सिंह मकराना के खिलाफ सांप्रदायिक हिंसा भड़काने, दो समुदायों के बीच तनाव पैदा करने समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

बता दें कि दिसंबर के आखिरी दिनों में 18 वर्ष की मनीषा ढूंढी जो कि कोलायत तहसील के बांगड़ सर गांव की रहने वाली है, उसने कोलायत के ही एक अन्य गांव के रहने वाले 22 वर्षीय मुख्त्यार खान के साथ लव मैरिज कर ली थी।

इस प्रकरण को लेकर लड़की मनीषा ड्यूटी के दादा और पिता सत्यनारायण डूडी ने एक वीडियो बयान जारी करते हुए हिंदुओं से अपील की थी कि उनकी बेटी के साथ एक मुस्लिम लड़के ने बहला-फुसलाकर शादी कर ली है और वह लव जिहाद की शिकार हो रही है।

यह भी पढ़ें :  भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी ने बिहार के  युवाओं के कौशल विकास पर किया फोकस

साथ ही दादा और पिता ने बीकानेर पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा से मुलाकात करके उनकी बच्ची को वापस लाने के लिए गुहार लगाई थी, लेकिन लड़की मनीषा डूडी और लड़के मुख्त्यार खान ने बीकानेर के ही नया शहर थाने में समाज से मारने की धमकियां मिलने के चलते सुरक्षा की मांग की गई थी।

जिला पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने एक बयान में कहा था कि लड़की 18 साल की हो चुकी है और लड़का 22 साल का है। भारतीय संविधान और कानून के मुताबिक दोनों अपनी मर्जी से फैसले ले सकते हैं, शादी भी कर सकते हैं। उन्होंने सुरक्षा की गुहार लगाई है, पुलिस का दायित्व बनता है कि उनको सुरक्षा मुहैया भी करवाएं।

इसके बाद इस मामले को लेकर राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना के द्वारा बीकानेर में रैली का आयोजन किया गया था, जिसमें लड़की मनीषा डूडी के दादा के पिता भी शामिल हुए थे। उन्होंने एक बार फिर समाज से न्याय की मांग की थी।