जाट-राजपूत एक हुए तो उबला बीकानेर, महिपाल सिंह मकराना ने भरी हुंकार

बीकानेर। बीकाजी की नगरी, बीकानेर में रविवार को उबाल मारती हिंदुओं की युवा सेना ने पुलिस की हालत पतली कर दी। करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना के आव्हान पर सर्व समाज की ओर से आंदोलन के पहले उग्र आव्हान की रैली की गई।

इस रैली की खास बात यह रही कि बरसों बाद जाट-राजपूत खाई पटती हुई नजर आई। मकराना ने हिन्दू पिता सत्यनारायण को न्याय के लिए आव्हान किया तो राजपूत, ब्राम्हण, बिश्नोई समेत तकरीबन सभी जातियों के लोगों ने हुंकार भरी।

यहां कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित महासभा में जयश्री राम के जमकर नारे लगे। कथित तौर पर लव जिहाद की शिकार मनीषा डूडी के दादा ने सर्वसमाज का धन्यवाद दिया। इसके बाद मकराना ने कहा कि हमें जातियों में बांटकर रहने से दुश्मन कमजोर करेगा, इसलिए सबको मिलकर लड़ना होगा।

जब रैली उग्र हो गई तो पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। बीकानेर पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने दो दिन पहले ही बयान जारी कर कहा था कि लड़की मनीषा औऱ लड़का मुख्तियार खान ने दो दिन पहले ही नया शहर थाना में जाकर सुरक्षा की गुहार लगाई थी।

चंद्रा ने कहा कि भारत के संविधान के मुताबिक लड़की 18 साल की बालिग और लड़का मुख्तियार 22 साल का बालिग है, इसलिये कानूनन विवाह कर सकते हैं। यदि पुलिस सुरक्षा मांगी गई है तो उनको दी जाएगी।

इसके अगले ही दिन, यानी शनिवार को करणी सेना के आव्हान पर यह रैली और सभा रखी गई थी। इस सभा में सरकार और पुलिस प्रशासन को चेतावनी दी गई है कि अगर लड़की बरामद नहीं हुई तो आने वाले दिनों में बड़ा आंदोलन किया जाएगा, जिसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

यह भी पढ़ें :  नारायण बेनीवाल का आज विधानसभा में पहला दिन

गौरतलब है कि कोलायत के बांगड़सर गांव के मनीषा डूडी (18 साल) कोलायत की मुख्तियार खान (22 साल) से लव मैरिज करने के बाद घर से गायब है, जिसको लेकर लड़की के दादा के पिता ने वीडियो बयान जारी कर समाज से सहायता देने की अपील की थी।