किसान कर्जमाफी के लिए आंदोलन करेगी भाजपा: डॉ. पूनियां

-सभी देशवासियों के लिए गर्व की बात है वैक्सीन पर भारत लिखा हुआ है: डाॅ. सतीश पूनियां

-मोदी सरकार के कुशल नेतृत्व में सर्वे संतु निरामया की भावना के साथ देशवासियों को वैक्सीनेशन का लाभ दिया जाएगा: डाॅ. पूनियां

संपूर्ण किसान कर्जमाफी सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर भाजपा आगामी दिनों में प्रदेशभर में कर सकती है आंदोलन

जयपुर। कांग्रेस पार्टी के द्वारा दिसंबर 2018 के चुनाव से पहले 10 दिन में किसानों का संपूर्ण कर्जा माफ करने का दावा किया था, लेकिन कुछ ही किसानों का कर्ज माफ हुआ और उसके बाद भी किसानों की आत्महत्या का सिलसिला थम नहीं रहा है। अब किसान कर्जमाफी को लेकर भारतीय जनता पार्टी राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर आंदोलन करने की तैयारी कर रही है।

वैक्सीनेशन को लेकर पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि मोदी सरकार के कुशल नेतृत्व में कोरोना की चुनौतियों से मजबूती से मुकाबला किया जा रहा है, सीमित संसाधनों के बावजूद भी जनसमर्थन के सहयोग से कोरोना संक्रमण का मुकाबला किया गया।

भारत दुनिया का तीसरा बड़ा देश है, जहां इतनी बड़ी आबादी को वैक्सीनेशन का लाभ मिलेगा। सुखद बात है कि जिस पर भारत लिखा होगा, सर्वे संतु निरामया, इस भावना के साथ भारत के लोगों को वैक्सीनेशन का लाभ दिया जाएगा।

उन्होंने अयोध्या में श्रीराम मंदिर के निर्माण के लिए लोगों द्वारा दिए जा रहे अंशदान को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा कि भगवान श्रीराम में असंख्य करोड़ों भारतीयों की आस्था है, जिससे जो सहयोग बन पड़ेगा हम सभी लोग अपनी क्षमता के अनुसार सहयोग करेंगे, कांग्रेस का काम सिर्फ राजनीति करना है वह इस मामले पर भी राजनीति कर रही है।

यह भी पढ़ें :  मंत्री डॉ. रघु शर्मा की आईएएस डॉ. समित शर्मा ने ऐसे खोली पोल

संपूर्ण किसान कर्जमाफी को लेकर भाजपा आगामी दिनों में प्रदेशभर में कोई आंदोलन करेगी, इसको लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में डाॅ. पूनियां ने कहा कि संपूर्ण किसान कर्जमाफी, बेरोजगारी भत्ता, लंबित भर्तियां, बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था, ऐसे मुद्दे हैं जिन पर राजस्थान की जनता पूरी तरीके से उद्वेलित है, आक्रोश में है।

गहलोत सरकार ने ढाई वर्ष विभिन्न चुनावों में निकाल दिए, उनकी नीयत सही होती तो पंचायतीराज के चुनाव समय पर कराते और किसानों और युवाओं से जो वादे किए थे उनको पूरा करते, लेकिन उन्होंने वादाखिलाफी की है।

भाजपा आगामी दिनों में इन मुद्दों को लेकर आंदोलन कर सकती है, इससे पहले भी भाजपा इन मुद्दों को लेकर आंदोलन कर गहलोत सरकार को जगाने का कार्य कर चुकी है, लेकिन सरकार संवेदनहीन बनी हुई है, जिसका जनहित से कोई सरोकार नहीं है।