झालावाड़ में बर्ड फ्लू, राजेंद्र राठौड़ ने सरकार को दी चेतावनी

जयपुर। बीते साल सरकारी तंत्र की नाकामी के चलते जैसे सांभर झील में हज़ारों पक्षी बेमौत मरने को मजबूर हो गए थे, ठीक वैसे ही अब ऐसी त्रासदी झालावाड़ में आ गई है। इसको लेकर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र सिंह राठौड़ ने सरकार को चेताया है।

राठौड़ ने ट्वीट कर अशोक गहलोत सरकार को लिखा है, “पिछले साल राज्य की सांभर झील में हुई देश की सबसे बड़ी पक्षी त्रासदी के बाद अब झालावाड़ में बर्ड फ्लू की दस्तक से कई कौओं की मौत की खबर चिंताजनक है। कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद आमजन व अन्य पक्षियों के जीवन पर भी संकट गहरा गया है।

मेरी राज्य सरकार से मांग है कि वह तात्कालिक रूप से संकटग्रस्त पक्षियों के जीवन को बचाने के लिए सख्त कदम उठाएं, ताकि मौजूदा स्थिति भयावह नहीं।”

जिला प्रशासन ने जांच के लिए जुटाए नमूने 
इधर, झालावाड़ जिला प्रशासन ने बड़ी संख्या में कौवा की मौत के कारण के कारण जानने में जुटा है। जिला प्रशासन ने पहली नजर में इसे बर्ड फ्लू फैलना बताया है। जिले की रैपिड रिस्पांस टीम ने सैम्पल की जांच शुरू कर दी है। प्रशासन की ओर से संबंधित क्षेत्र के पोल्ट्री फार्म और पोल्ट्री शॉप से भी नमूने लिए जा चुके हैं।

झालावाड़ जिलाधीश एन. गोहाएन ने प्रभावित इलाके में जीरो मोबिलिटी लागू कर सभी पोल्ट्री फार्म में जांच के निर्देश दिए हैं। मंदिर के परिसर में 25 दिसंबर 2020 को अचानक कौओं की इतनी संख्या में मौतें हुईं।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान में धारा 144 लागू, 31 मार्च तक 5 लोगों से ज्यादा एकत्रित नहीं हो सकेंगे

राज्य वन विभाग और पशुपालन विभाग की संयुक्त टीम ने कौओं का उपचार किया, नमूने राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान, भोपाल भेजे गए हैं।