पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पुलिस कमिश्नर से मिले प्रेस क्लब के पदाधिकारी

-वरिष्ठ फोटोजर्नलिस्ट गिरधारी पालीवाल पर हमले के आरोपी व पत्रकार अभिषेक सोनी के हत्यारों पर सख्त कार्रवाई की मांग।

जयपुर।
जयपुर के मानसरोवर में प्रेस फोटोजर्नलिस्ट गिरधारी पालीवाल और पत्रकार अभिषेक सोनी पर हमले के आरोपियों की गिरफ्तारी और पत्रकारों को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए पिंकसिटी प्रेस क्लब जयपुर के पदाधिकारी गुरुवार को पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव से मिले।

प्रेस क्लब के अध्यक्ष मुकेश मीणा के नेतृत्व में मिले प्रतिनिधिमंडल में उपाध्यक्ष राजकुमार शर्मा और कार्यकारिणी सदस्य गिरिराज गुर्जर, जितेश जेठानंदानी, पंकज शर्मा सहित अन्य पत्रकारों ने पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव को ज्ञापन सौंपा।

पुलिस कमिश्नर से मांग की गई है कि मानसरोवर थाना एरिया में पत्रकार अभिषेक सोनी की हत्या करने वाले बदमाशों को जल्द गिरफ्तार किया जाए और उनके परिजनों की में हर संभव मदद की जाए।

साथ ही पत्रकारों को अपने कार्य के दौरान आने वाली परेशानियों में पुलिसकर्मियों से सद् व्यवहार के लिए कहा जाए। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए गाइडलाइन जारी करने की मांग की गई।

पुलिस कमिश्नर श्रीवास्तव ने आश्वस्त किया है कि अभिषेक सोनी हत्याकांड में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और दो आरोपियों की पुलिस टीम जोर शोर से तलाश कर रही है।

परिजनों की प्रार्थना पत्र को प्राथमिकी में शामिल कर लिया जाएगा, साथ ही गिरधारी पालीवाल के साथ हुई मारपीट के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस मामले में पेट्रोल पंप संचालक के बेटे की भूमिका भी संदिग्ध है कि कर्मचारियों ने उसकी शह पर ही पत्रकार गिरधारी पालीवाल से मारपीट की है, ऐसे में उसकी भूमिका की भी जांच की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि अशोक गहलोत की सरकार के गठन से पहले विधानसभा चुनाव के दौरान जब कांग्रेस पार्टी ने अपना जन घोषणा पत्र जारी किया था, उसमें वादा किया था कि सरकार बनने पर पत्रकार सुरक्षा कानून बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें :  Tonk: विधायक अनशन पर, शव डीप फ्रीज़ में, सरकार नींद में

उसके बाद पिछले 2 साल के दौरान कई पत्रकारों के साथ मारपीट हो चुकी है, बावजूद इसके राज्य सरकार की तरफ से अभी तक पत्रकार सुरक्षा कानून को लेकर किसी तरह की कोई भी गतिविधि नहीं की गई है।