भाजपा के 17 सांसद इस्तीफा दें, मैं भी देकर फिर चुनाव लड़ लूंगा: हनुमान बेनीवाल

जयपुर। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा है कि अगर राजस्थान भाजपा के 17 सांसद इस्तीफा दे दें, तो वह भी नागौर से इस्तीफा देकर दोबारा चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।

एक दिन पहले ही नेता प्रतिपक्ष और भाजपा के नेता गुलाबचंद कटारिया के द्वारा हनुमान बेनीवाल को स्वतंत्र होने और वन मैन आर्मी होने का हवाला देते हुए कहा गया था कि अगर हनुमान बेनीवाल को इतना ही गुमान है तो वह नागौर से सांसद पद से इस्तीफा देकर द्वारा चुनाव लड़ लें।

इसके जवाब में शनिवार को पत्रकारों से बात करते हुए हनुमान बेनीवाल ने कहा कि वह गुलाबचंद कटारिया की बात को मान लेंगे, लेकिन जिन 17 लोकसभा सीटों पर उन्होंने भाजपा के पक्ष में प्रचार किया था, वहां के सभी 17 सांसदों को भी इस्तीफा देकर फिर से मैदान में उतारना चाहिए।

हनुमान बेनीवाल ने हालांकि एनडीए गठबंधन तोड़ने का ऐलान नहीं किया है, लेकिन लोकसभा की 3 समितियों से इस्तीफा देते हुए कहा है कि तीनों कृषि कानून अगर वापस नहीं हुए तो वह एनडीए से गठबंधन तोड़ने की ओर ही बढ़ रहे हैं।

हनुमान बेनीवाल ने एक बार फिर से अशोक गहलोत और वसुंधरा राजे पर सियासी हमला करते हुए कहा है कि दोनों नेताओं के बीच में पिछले 22 साल से राजनीतिक गठबंधन है, दोनों एक दूसरे को समर्थन करते हैं दोनों नेताओं का नार्को टेस्ट होना चाहिए, इनके सारे घोटालों को सीबीआई जांच के माध्यम से देश के सामने लाना चाहिए।

यह भी पढ़ें :  5 घन्टे की मैराथन बैठक के बाद डोटासरा बोले: शिक्षा विभाग से होगी कई अधिकारियों की छुट्टी

गौरतलब है कि हनुमान बेनीवाल ने एक दिन पहले ही एक के बाद एक साथ ताबड़तोड़ ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर जबरदस्त हमला किया था।

नागौर के सांसद हनुमान बेनीवाल ने स्पष्ट किया है कि उनका गठबंधन एनडीए से लोकसभा चुनावों के लिए था, 2023 में वह ना तो भाजपा के साथ और ना ही कांग्रेस के साथ कोई राजनीतिक गठबंधन करेंगे।

2023 में राजस्थान में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के साथ गठबंधन करने के सवाल पर हनुमान बेनीवाल ने कहा है कि उनका अभी तक असदुद्दीन ओवैसी के साथ कोई संपर्क नहीं हुआ है, किसी तरह का अभी उनके साथ गठबंधन करने का उनका इरादा नहीं है।