किसानों के लिये हनुमान बेनीवाल भाजपा से गठबंधन तोड़ने को तैयार हैं!

जयपुर।
भाजपा के साथ रालोपा (RLP) संयोजक हनुमान बेनीवाल (Hanuman beniwal) ने मई 2019 के लोकसभा चुनाव (Loksabha election 2019) से पहले गठबंधन किया था, लेकिन अब किसानों के समर्थन में बेनीवाल कभी भी भाजपा से नाता तोड़ने का ऐलान भी कर सकते हैं।

मंगलवार को भारत बंद (Bharat band) का कॉल किया गया है और देश के करीब 20 सियासी दलों (20 Political parties) ने उसको समर्थन दिया है, जिसमें रालोपा भी है। रालोपा का एक ही सांसद है, लेकिन 3 विधायक होने के कारण बात में वजन नजर आता है, क्योंकि वैसे भी रालोपा प्रदेश की पहली क्षेत्रीय पार्टी है।

बेनीवाल (Beniwal) ने साफतौर पर कहा है कि 8 दिसंबर को पंचायत समिति चुनाव के बाद तय करेंगे कि भाजपा (BJP) के साथ गठबंधन रखना है या नहीं, क्योंकि 8 की शाम को ही रालोपा की बैठक होने वाली है, जिसमें निर्णय लिया जायेगा।

सांसद बेनीवाल कई बार कह चुके हैं कि केंद्र सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने होंगे और किसानों के हित में काम करना होगा। साथ ही उन्होंने कहा है कि अगर कानून वापस नहीं होंगे तो वह गठबंधन भी तोड़ लेंगे।

किसानों के साथ रहकर सियासत करने वाले हनुमान बेनीवाल का इस तरह से बयान देना काफी महत्वपूर्ण है। हालांकि, वसुंधरा राजे के करीबी नेता बेनीवाल को गठबंंधन तोड़ने की धमकी दे चुके हैं, लेकिन उनके बयानों को हनुमान ज्यादा तवज्जो नहीं देते हैं।

यह भी पढ़ें :  कलेक्टर बोले: 'जनरल कास्ट के सफाइकर्मी न तो सफाई करते हैं और न ही करेंगे'