PM नरेंद्र मोदी के अभियानों की हवा उड़ा बेनीवाल को धमका रहे हैं वसुंधरा के करीबी नेता

Jaipur. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा हाथ में लेकर भारत को मजबूती प्रदान करने के लिए लॉकडाउन के दौरान करीब 24 लाख करोड रुपए का आर्थिक पैकेज देश की जनता को समर्पित किया है इसके साथ यह चीन से आने वाले आयात को बाधित करने के लिए भी तमाम तरह के कदम उठाए गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन की मोबाइल एप्लीकेशन के ऊपर स्ट्राइक करते हुए करीब 300 से ज्यादा मोबाइल एप्लीकेशन को बैन किया है। तीन अलग-अलग चरणों में मोदी सरकार ने चीन की मोबाइल एप्लीकेशंस को बैन करने का काम किया है।

इधर राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के नेता ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान और चीन के मोबाइल एप्लीकेशंस को प्रतिबंधित करने के अभियान की बखिया उधेड़ रहे हैं।

जयपुर के महापौर रहे, आदर्श नगर के पूर्व विधायक, जो कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं और वर्तमान में राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य अशोक परनामी लगातार चीन के मोबाइल एप्लीकेशंस का प्रयोग कर रहे हैं।

Screenshot 20201203 210958 Drive

अशोक परनामी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और हनुमान बेनीवाल को संबोधित करते हुए को एक प्रेसनोट जारी किया है। इस पत्र में अशोक परनामी ने हनुमान बेनीवाल को सीधे तौर पर कहा है कि वह भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन कल खत्म करते आज ही खत्म कर दें, किंतु पार्टी को किसी तरह से धमकाने का काम नहीं करें।

अशोक परनामी ने मीडिया को जो पत्र जारी किया है, वह पत्र कैमस्कैनर मोबाइल एप्लीकेशन के द्वारा कैप्चर करके भेजा गया है। उल्लेखनीय है कि कैमस्कैनर मोबाइल एप्लीकेशन चीन की है, जिसको अन्य के साथ बीते महीनों में ही केंद्र की सरकार के द्वारा इस एप्लीकेशन को प्रतिबंधित किया गया था।

यह भी पढ़ें :  RLP की तीसरी लिस्ट, हिंडौन से शशिदत्ता, नागौर से शमशेर, नरसी किराड़ को कठूमर से उतारा-

मजेदार बात यह है कि जहां एक तरफ पूरी भारतीय जनता पार्टी और प्रदेश इकाई अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तमाम अभियानों को बढ़-चढ़कर पालन करने और कार्यकर्ताओं से पालन करवाने का काम करते हैं, तो दूसरी तरफ वसुंधरा राजे के बेहद करीबी अशोक परनामी आज भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रतिबंधित एप और आत्मनिर्भर भारत अभियान की बखिया उधेड़ते हुए कैमस्केनर यूज कर रहे हैं।

ऐसे में सवाल ये उठते हैं कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अभियान को भाजपा की राजस्थान इकाई के ही कुछ नेताओं द्वारा पलीता लगाया जा रहा है, या कह सकते हैं कि वसुंधरा राजे की करीबी नेता पीएम मोदी के अभियान को मानते ही नहीं हैं?

उल्लेखनीय है कि एक दिन पहले ही भाजपा के छबड़ा से विधायक प्रताप सिंह सिंघवी के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल को चेतावनी देते हुए कहा था, कि चाहे तो वह गठबंधन तोड़ सकते हैं लेकिन वसुंधरा राजे के खिलाफ बोले गए शब्द बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे।

उसके बाद हनुमान बेनीवाल ने बयान जारी करते हुए कहा था कि जिन नेताओं की राजनीतिक कोई हैसियत है यह नहीं, ऐसे लोग उनको सलाह दे रहे हैं। साथ ही बेनीवाल ने यह भी कहा था कि उनका गठबंधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ है ना कि राजस्थान की इन छोटे-मोटे नेताओं के साथ।

आपको बता दें कि हनुमान बेनीवाल लगातार राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी राजनीतिक तौर पर निशाने पर रखते हैं और दोनों नेताओं के गठबंधन का दावा करते हुए कहते हैं कि यह दोनों नेता एक दूसरे को बचाने का काम करते हैं।

यह भी पढ़ें :  एसटी 6 से भिड़ा एसटी 4, देखिए कौन हुआ ढ़ेर-