सरकार के मंत्री, मुख्य सचेतक और भाजपा अध्यक्ष अपने वार्ड में हारे

जयपुर। विधानसभा क्षेत्र से विधायक व सरकार में कृषिमंत्री लालचंद कटारिया को इन चुनावों में बहुत बड़ी हार मिली है। मुख्यमंत्री के करीबी माने जाने वाले मुख्य सचेतक महेश जोशी को भी उन्ही के विधानसभा क्षेत्र हवामहल में भाजपा ने पटखनी दी है।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया नगर निगम ग्रेटर के वार्ड 64 में रहते है, जहां से भाजपा प्रत्याशी हार गए। पूनिया आमेर विधानसभा से विधायक है, जहां भाजपा और कांग्रेस 2-2 सीट जीतकर बराबर रही है।

अन्य विधानसभा वार स्थिति देखें तो नगर निगम ग्रेटर में सांगानेर, मालवीय नगर, विद्याधर नगर में भाजपा को बढ़त मिली है, जबकि बगरू में कांग्रेस को बढ़त हासिल हुई है।

इसी तरह नगर निगम हैरिटेज की बात करें तो यहां सिविल लाईन्स, किशनपोल, आदर्श नगर में कांग्रेस ने बढ़त हासिल की है, जबकि आमेर में दोनों पार्टियां बराबरी पर रही।

26 साल बाद भी स्पष्ट बहुमत नहीं ला पाई कांग्रेस
जयपुर में दोनों नगर निगम के परिणाम के मुताबिक नगर निगम ग्रेटर में भाजपा को तो स्पष्ट बहुमत मिल गया, लेकिन नगर निगम हैरिटेज में निर्दलीय किंगमेकर की भूमिका में उभर कर सामने आए है। यहां कांग्रेस बहुमत के आकड़े से 4 अंक पीछे रह गई।

26 साल में ये पहला मौका था जब कांग्रेस जयपुर में अपना स्पष्ट बहुमत से बोर्ड बनाती, लेकिन अब उसे हैरिटेज में सरकार चलाने और मेयर-डिप्टी मेयर बनाने के लिए निर्दलीयों का सहारा लेना पड़ेगा।

ये रही विधानसभवार स्थिति
नगर निगम ग्रेटर
विद्याधर नगर (1 से 42 वार्ड)
भाजपा 27, कांग्रेस 12, निर्दलीय 03

झोटवाडा (43 से 64 )
भाजपा 14, कांग्रेस 04, निर्दलीय 04

यह भी पढ़ें :  क्या बीजेपी या कांग्रेस पार्टी का कोई नेता बोतल से पानी पी पाएगा?

सांगानेर (64 से 103)
भाजपा 22, कांग्रेस 15, निर्दलीय 02

बगरू (104 से 124)
भाजपा 09, कांग्रेस 10, निर्दलीय 02

मालवीय नगर (125 से 150)
भाजपा 16, कांग्रेस 08, निर्दलीय 02

नगर निगम हैरिटेज
आमेर (वार्ड 1 से 4)
भाजपा 02, कांग्रेस 02, निर्दलीय 00

हवामहल (वार्ड 5 से 30)
भाजपा 12, कांग्रेस 10, निर्दलीय 04

सिविल लाईन्स (वार्ड 31 से 54)
भाजपा 10, कांग्रेस 13, निर्दलीय 01

किशनपोल (वार्ड 55 से 75)
भाजपा 08, कांग्रेस 09, निर्दलीय 04

आदर्श नगर (वार्ड 76 से 100)
भाजपा 10, कांग्रेस 13, निर्दलीय 02

जयपुर ग्रेटर मे भाजपा को पूर्ण बहुमत, हैरिटेज में निर्दलीय किंगमेकर
चुनाव परिणाम के मुताबिक नगर निगम ग्रेटर में भाजपा को तो स्पष्ट बहुमत मिल गया, लेकिन नगर निगम हैरिटेज में निर्दलीय किंगमेकर की भूमिका में उभर कर सामने आए है।

क्योंकि यहां न तो भाजपा बहुमत पा सकी और न कांग्रेस। यहां सबसे बड़ी ज्यादा वार्ड कांग्रेस ने जीते। ऐसे में यह तो तय है कि ग्रेटर में भाजपा का ही मेयर बनेगा। हैरिटेज में कांग्रेस का मेयर बनने की संभावना ज्यादा है, लेकिन उसे यहां निर्दलीयों का सहयोग लेना पड़ेगा।

दूसरी बार बनेगा कांग्रेस का जयपुर में मेयर
साल 2018 में प्रदेश की सत्ता में आने के बाद कांग्रेस सरकार ने जिस उदेश्य के लिए जयपुर में दो नगर निगम बनाए थे वह उससे उदेश्य को पूरा करने में सफल होती दिख रही है। कांग्रेस की मंशा थी कि जयपुर में कैसे भी कांग्रेस का मेयर बने।

हालांकि 2009 में हुए पहली बार मेयर के हुए प्रत्यक्ष चुनाव में कांग्रेस की ज्योति खण्डेलवाल जीती थी, लेकिन तब निगम में बोर्ड भाजपा का था। लेकिन अब नगर निगम हैरिटेज में बोर्ड भी कांग्रेस का बन सकता है और मेयर भी।

यह भी पढ़ें :  दिल्ली में महिलाओं को मेट्रो और डीटीसी में यात्रा फ्री

ये रहा चुनावों का परिणाम
नगर निगम ग्रेटर (150 वार्ड)
भाजपा 88
कांग्रेस 49
निर्दलीय 13
बहुमत का आंकड़ा: 76
नगर निगम हैरिटेज (100 वार्ड)
भाजपा 42
कांग्रेस 47
निर्दलीय 11
बहुमत का आंकड़ा: 51

2014 में था बीजेपी का बहुमत
साल 2014 में जब चुनाव हुए थे तब जयपुर में एक नगर निगम था। उस समय भाजपा ने 91 वार्डो में से 64 वार्डो में जीत दर्ज की थी, जबकि कांग्रेस को केवल 18 वार्डो में जीती।

उस समय निर्दलीय पार्षद 09 जीतकर आए थे। ये पहला ऐसा कार्यकाल था जब एक बोर्ड के अंदर तीन मेयर बने थे। इसमें सबसे आखिरी में मेयर विष्णु लाटा बने, जो भाजपा से बागी होकर कांग्रेस के सहयोग से बने थे।