समदड़ी प्रधान Pinky choudhary रहना चाहती हैं अपने पुराने पति के साथ, पर यह है बड़ा संकट

बाड़मेर। जिले के समदड़ी पंचायत समिति के निवर्तमान प्रधान पिंकी चौधरी अपने कथित प्रेमी और वर्तमान पति अशोक चौधरी से 2 महीने में ही नाता तोड़ कर वापस लौट गई है। पिंकी चौधरी ने कहा है कि उसके ससुर और पति बहुत अच्छे लोग हैं और वह अपने पुराने पति अर्चन चौधरी के पास रहना चाहती हैं।

समदड़ी प्रधान पिंकी चौधरी ने मंगलवार रात 9:00 बजे पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचकर अशोक चौधरी के द्वारा उसको बंधक बनाने, बच्चे को जान से मारने की धमकी देने और परिवार को खत्म करने के साथ ही लगातार दो महीने तक उसके साथ साथ अत्याचार करने और दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है।

पिंकी चौधरी ने कहा है कि उसका ससुर देवता आदमी हैं, लेकिन आरोपी अशोक चौधरी के द्वारा ससुर का कैरियर खत्म करने के लिए यह सारी साजिश रची गई थी और उसको झूठे बयान देने के लिए भी मजबूर किया गया था। उसने बताया कि 19 अगस्त को अशोक चौधरी उसे खेत में छोड़ने के बहाने उठाकर ले गया और लगातार चार दिन तक जयपुर रखा था।

पिंकी चौधरी ने स्वीकार किया है कि उसके पुराने पति अर्चन चौधरी ने दूसरी शादी कर ली है, लेकिन वह अशोक चौधरी के साथ नहीं रहना चाहती हैं और अर्चन चौधरी के पास ही वापस लौटना चाहती है।

पिंकी चौधरी ने यह भी कहा है कि वह 2015 में प्रधान बनी थी और उनका कहना है कि उनके ससुर के राजनीतिक कद के कारण वह प्रधान बनी थी। अशोक चौधरी और उसके साथियों के द्वारा उसके ससुर का राजनीतिक करियर खत्म करने के लिए उस को बंधक बनाया गया था।

यह भी पढ़ें :  आरएसएस ने शुरू की अशोक गहलोत सरकार में सेंधमारी

इसके साथ ही प्रधान पिंकी चौधरी ने कहा है कि अशोक चौधरी ने 2 महीने तक उसको बंधक बनाए रखा और उसके साथ मारपीट की उसको अपने बच्चे से भी मिलने नहीं दिया। वह बड़ी मुश्किल से मंगलवार को किसी बहाने अशोक चौधरी के चंगुल से छूट कर भागी है।

दूसरी तरफ अशोक चौधरी ने कहा है कि पिंकी चौधरी के साथ उसकी शादी हो चुकी है और वह जो अभी बयान दे रही है, वह सभी बेबुनियाद है वह किसी दबाव में आकर इस तरह के बयान दे रही है। अशोक ने बताया कि वह पिंकी चौधरी को पत्नी के रूप में स्वीकार कर चुका है।