प्रदेश में धर्मांतरण की घटनाएं बढ़ रहीं, मेवात क्षेत्र में कानून व्यवस्था बड़ी चुनौती: डाॅ. पूनियां

वाड्रा की कांग्रेस से जनता का मोहभंग हो गया है: डाॅ. सतीश पूनियां

पंचायतीराज चुनाव के लिए भाजपा जारी करेगी दृष्टि-पत्र: डाॅ. पूनियां

जयपुर। भाजपा प्रदेश कार्यालय में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने पत्रकार वार्ता में कहा कि मोदी सरकार के राष्ट्रवाद एवं विकास के विचार से प्रभावित होकर आज कांग्रेस के कई प्रमुख लोग भाजपा परिवार में शामिल हुये हैं, क्योंकि भाजपा पार्टी एक परिवार की नहीं बल्कि सभी कार्यकर्ताओं की संयुक्त पार्टी है।

उन्होंने कहा कि अब कांग्रेस पार्टी महात्मा गांधी की पार्टी नहीं रही, अब यह सही मायने में वाड्रा की कांग्रेस है, इसलिए देश की जनता का इस वाड्रा कांग्रेस से मोहभंग हो गया है।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि निश्चित रूप से जितने भी लोग भाजपा से जुड़े हैं इससे भाजपा की राजनीतिक विचारधारा और राजनीतिक गतिविधियों को भी ताकत मिलेगी, आने वाले समय में बहुत सारे और लोग भी भाजपा से जुड़ने की इच्छा जता चुके हैं, समय-समय पर उन लोगों को भी भाजपा के साथ जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि पंचायतीराज चुनावों की घोषणा हो चुकी है, जिसको लेकर भाजपा ने जिलों के प्रभारी एवं सह-प्रभारियों की घोषणा कर दी है, जो स्थानीय स्तर पर स्क्रीनिंग कर जिताऊ उम्मीदवारों का पैनल तैयार कर पार्टी की प्रदेश समिति को अवगत करायेंगे, जिन पर विचार-विमर्श कर उम्मीदवार तय किये जायेंगे।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि गहलोत सरकार के 20 महीने के शासन में पंचायतों के भी विकास कार्य ठप पड़े हैं। भाजपा पंचायत चुनाव के लिए भी दृष्टि-पत्र जारी करेगी और कांग्रेस की अकर्मण्य एवं भ्रष्टाचारी सरकार को जनता से उखाड़ फेंकने का आव्हान करेगी।

यह भी पढ़ें :  राज्यसभा चुनाव से पहले हनुमान बेनीवाल का ऐलान, बीजेपी को समर्थन देने और गहलोत के दबाव देने की बात पर यह कहा...

उन्होंने कहा कि प्रदेश में धर्मांतरण की घटनाएं बढ़ रही हैं, अलवर में मेमचन्द जाटव को जबरन धर्मांतरण के लिए मजबूर एवं प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है।

मुझे लगता है कि राजस्थान सहित देशभर में धर्मांतरण के लिए सुनियोजित षडयंत्र है। हरियाणा में भी लव जिहाद का मामला सामने आया है, ऐसे में राजस्थान में पूरे मेवात क्षेत्र में कानून व्यवस्था एक बड़ी चुनौती बन चुकी है।

मेवात में गैर कानूनी गतिविधियाँ बढ़ रही है, अवैध हथियारों की तस्करी के मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन प्रदेश के मुखिया के कान पर जूँ तक नहीं रेंग रही।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि जयपुर, जोधपुर एवं कोटा सहित पूरे प्रदेश में महिलाओं एवं बच्चियों के खिलाफ अपराध बढ़ रहे हैं, लूट, डकैती एवं हत्या की घटनाओं में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिन्हें रोकने में मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री गहलोत विफल हैं। ऐसे में प्रदेश क्राइम कैपिटल बन चुका है।