23 C
Jaipur
बुधवार, जनवरी 20, 2021

पूर्व विधायक अलका गुर्जर से भी छोटी हो गईं वसुंधरा राजे?

- Advertisement -
- Advertisement -

– बिहार चुनाव में पूर्व विधायक अलका सिंह गुर्जर को प्रचार के लिए लगाया गया है, लेकिन भाजपा केंद्रीय नेतृत्व के द्वारा वसुंधरा राजे की अनदेखी क्यों की गई है?

जयपुर। राजस्थान में दो बार की मुख्यमंत्री और भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष वसुंधरा राजे को ऐसा लग रहा है भारतीय जनता पार्टी केंद्रीय नेतृत्व के द्वारा अनदेखा किया जा रहा है।

- Advertisement -पूर्व विधायक अलका गुर्जर से भी छोटी हो गईं वसुंधरा राजे? 3

हाल ही में पार्टी की राष्ट्रीय मंत्री बनाई गईं पूर्व विधायक अलका सिंह गुर्जर को बिहार चुनाव में प्रचार के लिए पार्टी के द्वारा लगाया गया है, किंतु लंबे समय तक राजस्थान की राजनीति और राष्ट्रीय राजनीति में केंद्रीय मंत्री से लेकर राज्य में मुख्यमंत्री होने तक का दबदबा रखने वाली वसुंधरा राजे को बिहार चुनाव के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना इसी तरफ इशारा कर रहा है।

अलका सिंह गुर्जर के अलावा जालौर के सांसद देवजी पटेल और अलवर के सांसद बालक नाथ को बिहार के चुनाव प्रचार में झोंक दिया गया है। राजस्थान से तीन केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, कैलाश चौधरी और अर्जुन राम मेघवाल को भी बिहार चुनाव की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इसके अलावा भी कुछ और नेताओं की डिमांड की गई थी, लेकिन राज्य में जयपुर, जोधपुर और कोटा के 6 नगर निगमों के चुनाव को देखते हुए प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया के द्वारा असमर्थता जताई गई। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि राजनीति में बड़ा कद रखने वाली और राजस्थान में दो बार मुख्यमंत्री रह चुकी वसुंधरा राजे को पार्टी के द्वारा लगातार अनदेखा क्यों किया जा रहा है?

आपको बता दें कि इससे पहले भी वसुंधरा राजे को हरियाणा समेत दूसरे चुनाव के लिए प्रचार की जिम्मेदारी नहीं सौंपी गई थी। इस चुनाव में भी महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को स्टार प्रचारक बनाया गया है।

इसके साथ ही कई केंद्रीय नेता, जो सियासी तौर पर वसुंधरा राजे से काफी छोटे हैं, उनको भी स्टार प्रचारक बनाकर बिहार में पार्टी ने जिम्मेदारी दी है, फिर भी वसुंधरा राजे को नहीं बुलाना भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।

चर्चा यह भी है कि केंद्रीय नेतृत्व के द्वारा भले ही अच्छा संदेश दिए जाने को देखते हुए वसुंधरा राजे को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया हो, किंतु ऐसा लग रहा है कि अब भारतीय जनता पार्टी की राजनीति में वसुंधरा राजे का और ऊंचाइयों पर जाने वाला समय बीत चुका है।

पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और भारतीय जनता पार्टी की राजस्थान इकाई अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया के साथ वसुंधरा राजे की लंबी खींचतान के नतीजे के रूप में भी इस को परिभाषित किया जा रहा है।

भले ही पार्टी नेतृत्व की सोच कुछ भी रही हो, लेकिन वसुंधरा राजे को बिहार जैसे अति महत्वपूर्ण चुनाव में इस्तेमाल नहीं किया जाना पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच चर्चा का विषय जरूर बन गया है।

- Advertisement -
पूर्व विधायक अलका गुर्जर से भी छोटी हो गईं वसुंधरा राजे? 4
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

पत्रकार भगवान चौधरी पर हिस्ट्रीशीटर ने किया जानलेवा हमला, पत्रकारों में गहरा रोष

जयपुर। राजधानी जयपुर से प्रकाशित होने वाले प्रमुख अखबार पंजाब केसरी की रिपोर्टर भगवान चौधरी पर कार्यालय जाते वक्त सुबह करीब 11 बजे स्थानीय...
- Advertisement -

पायलट कैम्प को झटका, विधायक गजेंद्र शक्तावत का आकस्मिक निधन

जयपुर। पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट कैंप को एक और झटका लगा है। पायलट के बेहद करीबी उदयपुर जिले की वल्लभनगर विधानसभा सीट से...

संसद की कैंटीन में सांसदों को अब नहीं मिलेगा सस्ता नास्ता-भोजन, 8 करोड़ की बचत होगी

नई दिल्ली। संसद में सांसदों को कैंटीन में खाने में नाश्ते में मिलने वाली सब्सिडी बंद करने की घोषणा कर दी गई है। लोकसभा...

गहलोत के जंगलराज का जीता-जागता प्रमाण: राठौड़

जयपुर। राजस्थान में अपराध के बढ़ते आंकड़ों के बावजूद राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा कोई कठोर कदम नहीं उठाए जाने के बाद...

Related news

मनीषा डूडी के साथ क्या लव जिहाद हुआ है?

बीकानेर/जयपुर। बीकानेर जिले की कोलायत तहसील के बांगड़सर गांव की 18 वर्ष की मनीषा डूडी ने पिछले दिनों कोलायत के एक गांव के रहने...

पत्रकार भगवान चौधरी पर हिस्ट्रीशीटर ने किया जानलेवा हमला, पत्रकारों में गहरा रोष

जयपुर। राजधानी जयपुर से प्रकाशित होने वाले प्रमुख अखबार पंजाब केसरी की रिपोर्टर भगवान चौधरी पर कार्यालय जाते वक्त सुबह करीब 11 बजे स्थानीय...

जाट-राजपूत एक हुए तो उबला बीकानेर, महिपाल सिंह मकराना ने भरी हुंकार

बीकानेर। बीकाजी की नगरी, बीकानेर में रविवार को उबाल मारती हिंदुओं की युवा सेना ने पुलिस की हालत पतली कर दी। करणी सेना के...

राजस्थान में रात्रिकालीन कर्फ्यू खत्म, मुख्यमंत्री की उच्च स्तरीय बैठक में लिया फैसला

जयपुर। कोरोना वायरस के कारण बीते साल मार्च के महीने से चल रहे राजस्थान में कर्फ्यू को लेकर राज्य सरकार पूरी तरह से रियायत...
- Advertisement -