भाजपा ने निगम चुनाव में बागी हुए 29 प्रत्याशियों को दिखाया बाहर का रास्ता

जयपुर। जयपुर के दोनों नगर निगमों में भारतीय जनता पार्टी से बागी होकर पर्चा दाखिल करने वाले 29 कार्यकर्ताओं को पार्टी में 6 साल के लिए प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया है।

भाजपा प्रदेश महामंत्री मदन दिलावर ने बताया कि भाजपा के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ पर्चा दाखिल करने वाले प्रत्याशियों को समझाया गया, जिनमें से 29 प्रत्याशियों ने नाम वापस नहीं लिया, इसलिए उनको पार्टी ने 6 साल के लिए प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया है। इनको निकाला बाहर-

IMG 20201024 WA0028

भाजपा प्रदेश महामंत्री मदन दिलावर ने कहा की प्रदेश में सबसे ज्यादा अपराध अनुसूचित जाति के लोगों पर हुए हैं। लगातार अपराध बढ़ रहे हैं, पूरे देश की तुलना करें तो 46% अपराध बढ़े हैं।

इसी तरह से आदिवासियों पर 27% अपराध मर्डर पूरे देश की तुलना में 49% अपराध बड़े अपराध निरंतर बढ़ रहे हैं। यह अपराध वह है, जो सरकारी रिकॉर्ड में दर्ज हो गई। इससे भी कहीं ज्यादा अपराध है जो रिकॉर्ड में आते ही नहीं है।

पुलिस थानों में दर्ज ही नहीं होते हैं, बल्कि उनको डरा धमका कर समझौते के लिए मजबूर करते हैं या भगा देते हैं। गांव में छोटी-छोटी बच्चियों को भी हैवानियत के साथ अत्याचार कर रहे हैं, इसकी कोई सीमा नहीं है।

इसका कारण एक ही है, सरकार सख्ती से पेश नहीं आ रही है। उसका एक कारण हो सकता है चुनाव के समय सरकार ने वादा किया था। क्योंकि कांग्रेस को ऐसे अधिकांश लोगों ने वोट दिया था, जो अपराधी प्रवृत्ति के हैं, इसलिए वे अपराधियों को संरक्षण दे रहे हैं। इसीलिए प्रदेश में अपराध बढ़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें :  जीते तो हनुमान बेनीवाल बनेंगे नरेंद्र मोदी कैबिनेट में मंत्री!

अनुसूचित जाति कथित तौर पर सबसे छोटी जाति है, सफाईकर्मी दिनरात अपनी जान जोखिम में डालकर के इस कोरोना काल खंड में भी सभी की सेवा कर रहे हैं। सरकार सबकी चिंता थोड़ी-थोड़ी कर रही है, लेकिन सफाई कर्मियों की बिल्कुल भी चिंता नहीं कर रही है।

सफाईकर्मियों को न कोई पीपीई की किट के साथ कुछ भी उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। इसके कारण कई सफाईकर्मी इसके शिकार हो रहे हैं। सफाई कर्मियों का वेतन कई महीनों से रोका हुआ है, यह कर्मचारी बहुत ही गरीब परिवारों से होते हैं, इसलिए वे भूखे भूखे हैं, उनकी चिंता करने वाला कोई नहीं है, कांग्रेस सरकार अनुसूचित जाति और आदिवासियों के विरोधी है।

छ निगम चुनाव चल रहे हैं, उनमें कई कार्यकर्ताओं ने अनुशासनहीनता की है, उन अनुशासनहीनता करने वाले कार्यकर्ताओं और नेताओं को भाजपा से 6 साल के लिए निष्कासित करते हैं, जो भाजपा के अधिकृत प्रत्याशियों के सामने चुनाव लड़ रहे हैं।

हेरिटेज के 16 और ग्रेटर के 13 लोगों को 6 साल के लिए प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित किया है। इसके साथ ही जोधपुर और कोटा निगम में बागी चुनाव लड़ रहे लोगों को अभी निष्कासन किया है।

उन्होंने कहा कि अपराध का सबसे बड़ा अड्डा बीकानेर हो गया है। कल ही एक व्यापारी की हत्या हुई, इसलिए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया ने कमेटी गठित की है। कमेटी जानकारी के रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष पूनिया को सौंपेंगे।

निकाय की चुनाव की तैयारी करने वाली टीम अलग है। ग्रामीण की तैयारी करने वाली टीम अलग है, दोनों की तैयारियां पूरी तरह से भाजपा कर ली है।

यह भी पढ़ें :  surgicalstrike2: पुलवामा हमले के 12 दिन बाद भारत ने पाक के आतंकियों की तबाही