RLP लड़ेगी नगर निगम का चुनाव, बेनीवाल बोले शहर व युवाओं की भावनाओ को देखते हुए लिया निर्णय

-राजस्थान लोक सेवा आयोग के वर्तमान अध्यक्ष व पूर्व अध्यक्ष उप्रेती तथा सदस्य शिव सिंह पर लगाये आरोप।
Jaipur.

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक तथा नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल गुरुवार को प्रेस वार्ता करके जयपुर, जोधपुर तथा कोटा में होने वाले नगर निगम चुनाव में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी द्वारा स्वतंत्र रूप से चुनाव लड़ने की घोषणा की।

सांसद ने कहा कि शहरी जनता की जन भावनाओं को देखते हुए तथा युवाओं की भावनाओं को देखते हुए राज्य लोकतांत्रिक पार्टी ने यह निर्णय लिया है और आगामी नगर निगम के चुनाव में राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी प्रमुखता से भाग लेगी तथा पार्टी के हित के लिए कार्य कर रहे लोगों को चुनाव में टिकट दिए जाएंगे।

उन्होंने खिंवसर विधायक नारायण बेनीवाल को जयपुर,भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग को जोधपुर व मेड़ता विधायक इंदिरा देवी बावरी को कोटा नगर निगम चुनाव का प्रभारी बनाने की घोषणा की।

यह कहा अवैध हिरासत में हुई मौत के मामले को लेकर

सांसद बेनीवाल ने
नागौर जिले जे मेडता सिटी में पुलिस थाने की हिरासत में हुई मौत के मामले में पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाए। सांसद ने कहा की नागौर जिले के मेड़ता सिटी पुलिस स्टेशन में घेवरराम जाट नामक व्यक्ति की पुलिस प्रताड़ना के कारण हिरासत में हुई मृत्यु अत्यंत दुःखद प्रकरण है।

शांति भंग की धारा 151 में गिरफ्तार किए व्यक्ति की पुलिस हिरासत में पुलिस द्वारा की गई मारपीट से हुई मृत्यु होना सिस्टम व पुलिस की कार्यशैली पर बड़ा सवालिया निशान है।

चूंकि इस मामले में घेवरराम की थाने के हिरासत ही मृत्यु हो गई थी जबकी मृत्यु को अस्पताल में गलत दर्शाया गया और तथा पूरे मामले को कल दबाने का प्रयास किया गया तथा जन प्रतिनिधियों व परिजनों को सच्चाई से अनभिज्ञ रखा गया और घेवर राम की मृत्यु को हिरासत के स्थान पर अस्पताल में दिखाने का प्रयास किया।

यह भी पढ़ें :  संघ पदाधिकारी न होते तो इंदौर में आग लगा देता : विजयवर्गीय

सांसद ने मामले को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व डीजीपी को पत्र लिखकर मामले में संज्ञान लेते हुए मेड़ता क्षेत्र के सीओ व पूरे थाने को एपीओ करने व दोषियों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही करने तथा हिरासत में हुई मौत के मामले की धारा 302 में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करते हुए मृतक के परिजनों को आर्थिक पैकेज देने की मांग की।

यह आरोप भी लगाए
सांसद बेनीवाल ने राजस्थान लोक सेवा आयोग के नव चयनित अध्यक्ष भूपेंद्र यादव तथा हाल ही में सेवानिवृत्त हुए लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष दीपक उप्रेती तथा आयोग के सदस्य शिव सिंह पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि तीनों ने हाल ही में हुई थाना अधिकारियों की भर्ती में मोटी रकम लेकर भारी भ्रष्टाचार किया ऐसे में ऐसे व्यक्ति को राजस्थान लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी देना किसी भी रूप में सही नही है !