Jaipur news

राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (rajasthan cricket association) के 4 अक्टूबर को होने वाले election को लेकर तलवारें खिंच गई हैं।

आज RCA के अध्यक्ष पद पर होने वाले चुनाव को लेकर उम्मीदवारी तय होने का दिन है। election officer आरआर रश्मि nagaur तथा rajsamand जिलों की आपत्तियों पर सुनवाई कर फैसला करेंगे।

वर्तमान में वैभव गहलोत राजसमंद जिले से क्रिकेट के कोषाध्यक्ष हैं, लेकिन उनके निर्वाचन पर आपत्तियां की हुई है, जबकि दूसरी तरफ से रामेश्वर डूडी की अध्यक्षता वाला नागौर जिला संघ ललित मोदी गुट के साथ जुड़ा होने के कारण सीपी जोशी गुट ने भी उसका निलंबन कर रखा है।

दोनों जिलों की आपत्तियों पर सुनवाई के बाद चुनाव अधिकारी आरआर रश्मि की तरफ से फाइनल वोटर लिस्ट भी जारी की जाएगी।

बताया जा रहा है कि चुनाव अधिकारी आरआर रश्मि ने एक दिन पहले ही प्रदेश के साथ जिला संघों की आपत्तियों पर सुनवाई की थी, जिनमें से दोसा, प्रतापगढ़, पाली, हनुमानगढ़, अजमेर, बारा और डूंगरपुर प्रमुख है।

इलेक्शन ऑफिसर के सामने एडवोकेट सभी जिलों की सुनवाई के बाद सिर्फ दो या तीन व्यक्तियों की उपस्थिति ही रखने की अनुमति थी, जिसके कारण अभी फाइनल लिस्ट सामने नहीं आ पाई।

अगर पूर्व नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी की उम्मीदवारी नहीं होती है तो ऐसे में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत निर्विरोध रूप से राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष बन सकते हैं।

इसी को लेकर कांग्रेस पार्टी में दो धड़े बने हुए हैं। कांग्रेसियों का दावा है कि क्रिकेट की राजनीति मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी अध्यक्ष सचिन पायलट कांग्रेस पार्टी पूरी दो गुटों में बंटी हुई नजर आ रही है।

राजस्थान में बरसों बाद क्रिकेट एसोसिएशन से बैन हटा था। कहा जा रहा है कि अगर डूडी को अशोक गहलोत सरकार की तरफ से कोई पद ऑफर किया जाता है कि वह अपनी उम्मीदवारी वापस ले सकते हैं।

फिलहाल कांग्रेस पार्टी जो कि अब तक राजनीतिक तौर पर अशोक गहलोत और सचिन पायलट के रूप में बैठी हुई थी, अब क्रिकेट की राजनीति भी इन दोनों गुटों में सामने आ चुकी है।

जीत हार के लिए दोनों तरफ से पासे फेंके जा रहे हैं और आज शाम तक इस खेल के पटाक्षेप होने की संभावना है।