36 C
Jaipur
सोमवार, सितम्बर 21, 2020

पाक ने अल्पसंख्यकों के प्रति अपना दुर्व्यवहार छिपाने के लिए अयोध्या मुद्दा उठाया: भारत

- Advertisement -
- Advertisement -

संयुक्त राष्ट्र, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। भारत ने पाकिस्तान द्वारा संयुक्त राष्ट्र महासभा में अयोध्या राम मंदिर निर्माण मुद्दा उठाने पर उस पर हिंसा की संस्कृति फैलाने और अल्पसंख्यकों के अधिकारों को दबाने का आरोप लगाया है।
भारत के संयुक्त राष्ट्र मिशन की एक काउंसलर पौलोमी त्रिपाठी ने गुरुवार को कहा, पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल द्वारा शांति की संस्कृति की बात करना कुछ और नहीं बल्कि अल्पसंख्यकों के प्रति अपने खुद के शर्मनाक रिकॉर्ड से ध्यान हटाने के लिए हथकंडा है। उसने अपने घर में और अपनी सीमाओं पर हिंसा की संस्कृति को जारी रखा है।

उन्होंने पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि मुनीर अकरम की अयोध्या और कश्मीर के बारे में की गई टिप्पणी के जवाब में कहा, भारत के खिलाफ बेतुके आरोप लगाने से पहले, जहां सभी धर्मों के लोगों के समान अधिकारों की गारंटी संविधान द्वारा दी गई है, पाकिस्तान के प्रतिनिधिमंडल को अपनी प्रणाली और अल्पसंख्यकों की रक्षा के रिकॉर्ड को देखना चाहिए।

उन्होंने अकरम पर शांति की संस्कृति पर असेंबली के उच्च-स्तरीय फोरम का भारत के खिलाफ नफरत फैलाने वाले मंच के रूप में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

उसने कहा कि पाकिस्तान के खराब मानवाधिकारों के रिकॉर्ड और धार्मिक और जातीय अल्पसंख्यकों के भेदभावपूर्ण व्यवहार अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के लिए लगातार चिंता का कारण है।

पौलोमी ने कहा कि पाकिस्तान में ईश निंदा कानूनों का इस्तेमाल धार्मिक अल्पसंख्यकों जैसे कि हिंदू, ईसाई और सिखों के खिलाफ किया जाता है, उनके मानवाधिकारों और सम्मान का उल्लंघन किया जाता है। महिलाओं और लड़कियों को अगवा करके दुष्कर्म किया जाता ह,ै जबरन धर्मांतरित किया जाता है और उनके साथ वहशीपन करने वालों के साथ ही उनकी शादी करा दी जाती है।

अकरम ने कहा कि अयोध्या में बाबरी मस्जिद को ढहाना और वहां एक हिंदू मंदिर का निर्माण अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों का गंभीर उल्लंघन है।

उन्होंने जोर देकर कहा कि भाजपा-आरएसएस के चरमपंथियों ने सैकड़ों अन्य मस्जिदों और ऐतिहासिक इस्लामिक धार्मिक स्थल को नष्ट करने की धमकी दी है।

त्रिपाठी ने कहा कि दुनिया ने (कोविड-19) महामारी के दौरान हिंसा, और भेदभाव में वृद्धि देखी है।

उन्होंने कहा कि हम भारत में धर्मों, संस्कृतियों और जनजातीय समूहों के बीच संवाद को बढ़ावा देने के महत्व को समझते हैं।

उन्होंने कहा कि इसी भावना से हम दुनिया भर में समझ की भावना के साथ सेतु का निर्माण (कोविड -19) संकट से उबरने और बेहतर दुनिया की नींव तैयार करने के सभी प्रयासों का समर्थन करने के लिए तैयार हैं।

–आईएएनएस

वीएवी-एसकेपी

National Dunia से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर लाइक और Twitter, YouTube पर फॉलो करें.

- Advertisement -
पाक ने अल्पसंख्यकों के प्रति अपना दुर्व्यवहार छिपाने के लिए अयोध्या मुद्दा उठाया: भारत 2
Ram Gopal Jathttps://nationaldunia.com
नेशनल दुनिआ संपादक .

Latest news

बुरी पटकथा पर काम कर आगे नहीं बढ़ा जा सकता : सचिन खेडेकर

मुंबई, 21 सितंबर (आईएएनएस)। अभिनेता सचिन खेडेकर का मानना है कि अभिनेता के लिए अपने अभिनय कौशल का बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए एक...
- Advertisement -

अनुभव सिन्हा ने अनुराग कश्यप के समर्थन में आईं महिलाओं को सराहा

मुंबई, 21 सितंबर (आईएएनएस)। फिल्म निर्माता अनुराग कश्यप पर अभिनेत्री पायल घोष द्वारा लगाए गए यौन शोषण के आरोप के बाद कई महिलाएं कश्यप...

बिहार में वकील की गोली मारकर हत्या

बक्सर, 21 सितंबर (आईएएनएस)। बिहार के बक्सर जिला के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में सोमवार को दिनदहाड़े न्यायालय जा रहे एक वकील की अज्ञात अपराधियों...

कोरोना महामारी के बीच कर्नाटक विधानमंडल का मानसून सत्र शुरू

बेंगलुरु, 21 सितम्बर (आईएएनएस)। कर्नाटक विधानमंडल का आठ दिवसीय मानसून सत्र सोमवार को जबरदस्त स्वास्थ्य सुरक्षा उपायों जैसे मास्क, ग्लव्स, फेस शील्ड और सिर्फ...

Related news

केंद्र सरकार की गाइडलाइन के अनुसार खोले जाएंगे स्कूल- बेसिक शिक्षा मंत्री

इटावा, 18 सितंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ़ सतीश द्विवेदी ने कोरोनावायरस के कारण बंद चल रहे स्कूल खोले जाने की...

अलवर में 5-6 जनों ने बलात्कार किया, फिर मामी के साथ भांजे को शारिरीक सम्बन्ध बनवा वीडियो वायरल किया

अलवर। लोकसभा चुनाव के दरमियान अलवर में थानागाजी क्षेत्र में एक विवाहित लड़की के साथ गैंगरेप करने और उसका वीडियो वायरल करने...

भारत में 18 से 24 वर्ष की 37% महिलाएं रखती हैं लंबे समय तक सैक्स सम्बंध

-भारत में 19% महिलाओं को स्मार्टफोन पर रहती हैं पार्टनर की तलाश, देश की 62% महिलाएं कर रहीं ये काम।

पिंकी चौधरी भागने वाली लड़कियों की रोल मॉडल बनी, चार लड़कियों ने ली प्रेरणा और प्रेमियों के साथ भाग गईं

बाड़मेर/टोंक। पिछले महीने बाड़मेर के समदड़ी पंचायत समिति की प्रधान पिंकी चौधरी के घर से भागने और आपने प्रेमी अशोक चौधरी के...
- Advertisement -