बेनीवाल ने राजस्थान ही नहीं, इन राज्यों में भी BJP को खूब वोट दिलाए

hanuman beniwal narendra modi
hanuman beniwal narendra modi

जयपुर।

लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर कांग्रेस पार्टी में एक और जहां जबरदस्त तूफान आया हुआ है, वहीं दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी ने नरेंद्र मोदी को दोबारा से नेता चुनकर ताजपोशी करने की तैयारी कर ली है।

इस बीच राजस्थान में राजनीति गरमाई हुई है कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने इस्तीफा दे दिया है। हालांकि वह ने इसका खंडन कर रहे हैं, ना ही इसको स्वीकार कर रहे हैं।

इस बीच राजस्थान सरकार के दो मंत्री रमेश मीणा और उदयलाल आंजना ने भी राजस्थान में सरकार के कार्यों और संगठन के पदाधिकारियों के कार्यों की समीक्षा करने के बाद आलाकमान से कोई अच्छा फैसला लेने का निवेदन किया है।

राजस्थान के जिस नेता ने सबसे ज्यादा वोट इधर उधर की है, उसका नाम है राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर से नवनिर्वाचित सांसद हनुमान बेनीवाल।

हनुमान बेनीवाल ने न केवल नागौर, बीकानेर, जोधपुर, पाली, राजसमंद, जयपुर ग्रामीण, बाड़मेर, सीकर में ही भारतीय जनता पार्टी को वोट दिलाएं, बल्कि हरियाणा, दिल्ली, आधे उत्तर प्रदेश और पंजाब में भी बड़े पैमाने पर बीजेपी के पक्ष में वोट दिलाने का काम किया है।

हनुमान बेनीवाल के समर्थकों की फौज ने केवल राजस्थान में है, बल्कि हरियाणा, दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब और गुजरात में भी हैं।

इस बात का नमूना तब सामने आया था, जब जयपुर, सीकर, बाड़मेर, जोधपुर, और नागौर में हनुमान बेनीवाल ने बीते 5 साल के दौरान बड़ी रैलियां की थी, लाखों समर्थकों की रैली की थी।

जयपुर में विधानसभा चुनाव के ठीक 20 दिन पहले जब हनुमान बेनीवाल ने बड़ी रैली की थी और उसके पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते जयंत चौधरी शामिल हुए थे।

यह भी पढ़ें :  वसुंधरा राजे पोस्टरों से गायब, स्टार प्रचारकों में 5वें नम्बर पर

तब राष्ट्रीय लोक दल के साथ बेनीवाल ने गठजोड़ राजस्थान में चुनाव लड़ने की बात कही थी, तब उत्तर प्रदेश से बड़े पैमाने पर समर्थक हनुमान बेनीवाल की रैली में शामिल हुए थे।

हालांकि बाद में जयंत चौधरी ने राजनीतिक धोखाधड़ी करते हुए हनुमान बेनीवाल को साथ नहीं दिया और कांग्रेस पार्टी की गोद में जाकर बैठ गए।

लेकिन लोकसभा चुनाव में एक और जहां पर नरेंद्र मोदी का तूफान काम कर रहा था, तो वहीं राज्य में बड़े पैमाने पर हनुमान बेनीवाल के समर्थक भी भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में वोट कर रहे थे।