‘हॉर्स ट्रेडिंग’ के साथ जुड़ा ‘एलिफेंट ट्रेडिंग’, आखिर क्या है मामला?

'हॉर्स ट्रेडिंग' के साथ जुड़ा 'एलिफेंट ट्रेडिंग', आखिर क्या है मामला?
'हॉर्स ट्रेडिंग' के साथ जुड़ा 'एलिफेंट ट्रेडिंग', आखिर क्या है मामला?

—भैरोंसिंह शेखावत की सरकार गिराने के लिए हरियाणा से सूटकेश मंगवाए थे, अशोक गहलोत को वो ही याद रह गया -डा.पूनियां

जयपुर।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कहा है कि जिक्र हॉर्स ट्रेडिंग का करते हैं, जबकि प्रदेश में एलिफेंट ट्रेडिंग हुई है।

भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए डॉ. पूनियां ने कहा की 1993 में भैरोंसिंह शेखावत की सरकार बनने से रोकने और कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए हरियाणा से भजनलाल चार्टर विमान से सूटकेश लेकर राजस्थान आए थे। अशोक गहलोत उस वक्त केंद्रिय मंत्री थे, इसलिए अभी बोलते वक्त उनको वो ही वाक़या याद रह गया।

डॉ. पूनियां ने कहा की सारा प्रदेश जानता है कि 1996 में अपनी बीमारी का ईलाज कराने के लिए अमेरिका गए शेखावत के पीछे से षड्यंत्र करके उनकी सरकार गिराने की कोशिश हुई थी, तब मुख्यमंत्री शेखावत को ईलाज बीच में छोड़ कर वापस आना पड़ा था।

उस वक्त विधायकों को ख़रीदने के लिए पैसों का प्रस्ताव कांग्रेस के द्वारा दिया गया था। अशोक गहलोत उस वक्त प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष थे और सारा खेल उनके संज्ञान में हो रहा था, बल्कि उनकी छत्रछाया में खेला जा रहा था, इसलिए अपने कर्म उनको अब याद आ रहे हैं।

डॉ. पूनियां ने कहा की वो लोग होर्स ट्रेडिंग का झूंठा आरोप हम पर लगाते हैं, जिन्होंने दो बार राजस्थान में बहुजन समाज पार्टी के सारे विधायक ख़रीद कर एलिफ़ेंट ट्रेडिंग की है।

कांग्रेस ने निर्दलीय विधायकों को डरा-धमका कर होटल में बंद कर रखा है। उनको बाहर निकलने और निष्पक्ष मतदान करने देने से मुख्यमंत्री गहलोत क्यों रोक रहे हैं? उन्हें इसका जवाब प्रदेश की जनता को देना चाहिए।

यह भी पढ़ें :  सुमन शर्मा का कालीचरण सराफ आंचल खींचते हैं, वो कुछ नहीं करती हैं-BJP MLA

डॉ. पूनियां ने कहा की अपनी ही पार्टी के एक नेता को आलाकमान की नज़रों में नीचा दिखाने के लिए 5 दिन से प्रदेश में नौटंकी चल रही है। ना कोई ख़रीद रहा है, ना कोई बिक रहा है।

अशोक गहलोत इस आशा से की वो झूंठ बोलकर प्रदेश की जनता को भरमा देंगे, हवा में तीर मारे जा रहे हैं, पर वो ये भूल रहे हैं कि प्रदेश की जनता बहुत समझदार है, वो इस ड्रामे को भलीभांति समझ रही है।

अशोक गहलोत खुद ही राज्य की कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकार में अपना पूर्ण एकाधिकार जमाने के लिए षड्यंत्र कर रहे हैं और अभियान को भाजपा के नाम से बोल रहे हैं।

डॉ. पूनियां ने कहा कि कोरोना के संक्रमण से अब तक प्रदेश में 300 से ज़्यादा लोगों की जान जा चुकी है। हज़ारों लोग संक्रमित हो चुके हैं और ये आंकड़ा बढ़ता जा रहा है, पर सरकार के मुख्यमंत्री, मंत्री-विधायक पांच सितारा होटल में संगीत का आनंद ले रहे हैं, लोगों को मरने के लिए उनके हाल पर छोड़ दिया।

उन्होंने कहा है कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि सत्तापक्ष खुद ही विपक्ष से डरा हुआ है। इससे पहले तक विपक्ष में सेंधमारी की संभावना के चलते अपने विधायकों को बांधकर रखा जाता था। डॉ. पूनियां ने कहा कि बसपा के 2008 में भी हाथी खरीदा और 2019 में फिर हाथी खरीदा, तो ऐसा पहली बार हुआ है कि हॉर्स ट्रेडिंग के साथ अंग्रेजी में एलिफेंट ट्रेडिंग को भी जोड़ देना चाहिए।

19 जून के बाद कांग्रेस द्वारा कार्यवाही किए जाने की धमकी दिए जाने की बात पर डॉ. पूनियां ने कहा है कि हमने भी चूड़ियां नहीं पहनी हैं, यदि उनकी तरफ से कार्यवाही होगी, तो भी कार्यवाही करने को तैयार बैठे हैं।