4 फरवरी को होगा बड़ा धमाका, शाहीन बाग को लेकर गृहमंत्री अमित शाह का यह है प्लान

New Delhi: People continue to protest against the Citizenship Amendment Act (CAA) 2019, National Register of Citizens (NRC) and National Population Register (NPR) on the 71st Republic Day, at Shaheen Bagh in New Delhi on Jan 26, 2020. (Photo: National dunia)
New Delhi: People continue to protest against the Citizenship Amendment Act (CAA) 2019, National Register of Citizens (NRC) and National Population Register (NPR) on the 71st Republic Day, at Shaheen Bagh in New Delhi on Jan 26, 2020. (Photo: National dunia)

New delhi news

नई दिल्ली।
नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में जो धरना चल रहा है, उसका समापन 4 फरवरी को हो जाएगा। सूत्रों के अनुसार भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और देश के गृहमंत्री अमित शाह ने इसको लेकर पूरी रणनीति बना रखी है।

इस योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए भाजपाध्यक्ष जेपी नड्डा और गृहमंत्री अमित शाह के प्लान पर काम हो रहा है। बताया जा रहा है कि धरने का निपटारा एक योजना के तहत 4 फरवरी 2020 को कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी शाहीन बाग पर धरना देने वालों ने अभी तक टस से मस होने का नाम नहीं लिया है, बल्कि उसकी तर्ज पर ​मुंबई समेत कई शहरों में भी धरने शुरु करने का काम किया जा रहा है।

इधर, दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव प्रचार चरम पर चल रहा है। ऐसे में आप और भाजपा के बीच सियासी युद्ध रोचक मोड पर पहुंच चुका है। दोनों दलों ने एक दूसरे पर हमले करने का कोई बहाना नहीं छोड़ा है।

आप जहां दिल्ली में पांच साल के काम के दम पर वोट मिलने का दावा कर रही है, वहीं भाजपा ने अपनी रणनीति के 10 बिंदू बना रखे हैं, जिनपर काम किया जा रहा है। इन बिंदुओं में आप सरकार की नाकामी, बदहाल दिल्ली और आप व कांग्रेस पर तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप प्रमुख है।

दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी ने दिल्ली में हथियार डाल दिए हैं, ऐसा प्रतीत हो रहा है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से लेकर राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा का भी दिल्ली चुनाव पर ध्यान नहीं है, केवल उम्मीदवारों को टिकट देकर उनको अपने हाल पर छोड़ दिया है।

यह भी पढ़ें :  आमेर शिला माता मंदिर में पूजा अर्चना कर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने किया बूथ संपर्क अभियान का शुभारंभ

दिल्ली में चुनाव 8 फरवरी को है, किंतु उसके ठीक चार दिन पहले दिल्ली के शाहीन बाग में जो होगा, उसको लेकर गुप्त रुप से केंद्र सरकार ने तैयारी कर ली है। इसके बाद ही तय होगा कि दिल्ली में सरकार किसकी बनेगी।