सरकार चलाना सभी की सामूहिक जिम्मेदारी, जनता ने पार्टी को चुना है, एक व्यक्ति को नहीं :पायलट

Jaipur political news
उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह की अपने विभाग के अफसरों से रार को लेकर कहा है कि प्रदेश की जनता ने किसी एक व्यक्ति को नहीं चुना है, पार्टी को चुना है। उसके बाद पार्टी ने अपने मंत्री और नेता बनाए है।

सरकारी आवास पर शुक्रवार को मीडिया से पायलट ने कहा कि सरकार चलाना सामूहिक जिम्मेदारी है। टीम के किसी सदस्य को दिक्कत आती है तो उस पर समय रहते संज्ञान लेना चाहिए।

इससे पहले भी गुरुवार को पायलट ने विश्वेद्र के समर्थन में कहा था कि अगर कोई अधिकारी या कोई प्रशासनिक व्यक्ति मंत्री के साथ समन्वय लेकर काम नहीं कर पा रहा है तो उस पर सरकार को इंटरविन करना चाहिए।

वे पहले भी दो बार बोल चुके है, पहली बार नहीं हुआ। सांसद हनुमान बेनीवाल पर हुए हमले पर चिंता जताते हुए पायलट ने कहा है कि राजनीतिक दुश्मनी को व्यक्तिगत दुश्मनी में बदलना दुर्भाग्यपूर्ण है। इस मामले दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

इधर पयर्टन मंत्री सिंह ने आरटीडीसी की तरफ से किए गए 45 करोड़ रुपए के टेंडर पर सवाल खड़े करते हुए फिर से कहा है कि सरकारी अधिकारी जनता के पैसे का दुरूपयोग करना चाहते है। वे यह होने नहीं देंगे।

शुक्रवार को जनसुनवाई के लिए पीसीसी पहुंच सिंह ने टेंडर संबंधी कागजों को भी मीडिया के सामने लहराते हुए कहा कि जो टेंडर हुए है वह सिंगल है और जो अन्य टेंडर हुए है उनमें भी वहीं कंपनियां बिड लगा रही है।

पयर्टन मंत्री ने बताया कि इस मसले पर सवाल खड़े करने के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय से अधिकारियों ने उनसे सम्पर्क साधा है। उम्मीद है कि यह टेंडर निरस्त किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें :  राजस्थान विधानसभा चुनावी रण के लिए सजने लगी है राजनीतिक बिसात

उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने पंचायत चुनाव पर अपनी प्रतिक्रिया दोहराते हुए कहा है कि निर्वाचन आयोग संवैधानिक संस्था है।

पंचायत समितियों और शेष पंचायतों के चुनाव करवाने के लिए लिखा है। आयोग को चुनाव करवाने के लिए जो भी चाहिए होगा सरकार उपलब्ध करवाने को तैयार है। सरकारी आवास पर शुक्रवार को मीडिया से बातचीत कर रहे थे।